निकाय चुनाव: लीगल एक्शन के लिए भोपाल में एक दर्जन की टीम रहेगी तैनात

भोपाल
प्रदेश कांग्रेस की हर बूथ पर इस बार नजर रहेगी। कांग्रेस ने अपनी एक टीम बनाई हैं, जो बूथ के बाहर रहेगी। इसमें दो से तीन कार्यकर्ता रहेंगें, उन्हें पोलिंग एजेंट जैसे ही यह जानकारी देंगे कि गड़बड़ी हुई वैसे ही वे अपने चैनल के जरिए पीसीसी को अपडेट करेंगे।

कमलनाथ ने यह प्रयोग पहली बार किया है। कांग्रेस ने तय किया है कि हर बूथ पर दो से तीन कार्यकर्ता पोलिंग बूथ से तय दूरी पर बाहर रहेंगे। उनके बूथ पर गड़बड़ी होने की जानकारी उन्हें जैसे ही पोलिंग एजेंटों के जरिए मिलेगी। वे जिले की अपनी लीगल टीम को इसकी जानकारी देंगे, यदि नगरीय निकाय में ही  शिकायत के निराकरण होने की संभावना होगी तो उसका कुछ देर इंतजार करेंगे। इसके बाद भी यदि निराकरण नहीं हुआ तो इसकी जानकारी प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के कंट्रोल रूम को दी जाएगी। एक कंट्रोल रूम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के बंगले पर भी बनाया गया है। यहां पर भी शिकायत आई तो वह पीसीसी की लीगल टीम को फॉरवर्ड करेगी।

तत्काल होगी शिकायत
यहां पर मतदान के दिन सुबह से ही कांग्रेस अपनी लीगल टीम के साथ पीसीसी में मौजूद रहेगी। टीम को शिकायत मिलते ही, वह यहीं पर शिकायत को बनाएगी और तत्काल एक दल राज्य निर्वाचन आयोग जाकर शिकायत करेगा। इसलिए अलावा मतदान का अपडेट कमलनाथ के बंगले पर बने कंट्रोल रूम को हर बूथ के आएगा। सुबह से ही यह अपडेट लिया जाएगा। शाम को भी पूरा अपडेट सभी जगहों से यहां पर भेजा जाएगा।

Related Articles

Back to top button