तेलंगाना एक्सप्रेस में लूट करने वाले कुख्यात बदमाश धराए

इटारसी
 4 सितंबर की रात 12724 तेलंगाना एक्सप्रेस में नई दिल्ली से हैदराबाद जा रहे अप्रवासी भारतीय इंजीनियर की पत्नी का पर्स चुराकर भागने वाले गिरोह का जीआरपी-आरपीएफ ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस वारदात में शामिल जिले के सेमरी हरचंद निवासी कुख्यात बदमाश करीम उर्फ ख्वाजा एवं उसके साथी मेहरबान सिंह से चोरी किए गए करीब 8.50 लाख के स्वर्ण आभूषण समेत अन्य माल बरामद किया है। आरोपितों से चोरी किए गए जेवरात खरीदने के मामले में माखननगर के सराफा कारोबारी अनिल एवं सुमित डेरिया पर भी मामला पंजीबद्ध हुआ है। खास बात यह है कि इस गैंग का सरगना करीम उर्फ ख्वाजा 31 दिसंबर तक तड़ीपार था, इसके बावजूद बेखौफ होकर उसने जिले में इस वारदात को अंजाम दिया। इस पर्दाफाश से जिला पुलिस की बड़ी चूक भी सामने आई है। जिलाबदर अवधि में हिस्ट्रीशीटर बदमाश न सिर्फ जिले की सीमा में मौजूद रहा, बल्कि उसने बेखौफ होकर ट्रेन में चोरी की बड़ी वारदात भी की।

यह थी घटना

हैदराबाद निवासी 36 वर्षीय माधव पिता गुरूराज करगीकर अमेरिका के फ्लोरिडा शहर में आइटी इंजीनियर हैं। 4 सितंबर को अपनी पत्नी के साथ ए-2 कोच में वे दिल्ली-हैदराबाद की यात्रा कर रहे थे। ट्रेन भोपाल से सीधे नागपुर रूकती है, इटारसी आउटर पर लूट की वारदात का शिकार होने के बाद एनआरआइ दंपती ने नागपुर रेल पुलिस को खबर दी, लेकिन स्टाफ न आने पर अंतत: बल्लारशाह जीआरपी में अपराध दर्ज कराया। बल्लारशाह जीआरपी के कंट्रोल मैसेज पर आरपीएफ-जीआरपी सक्रिय हुई। स्टेशन के फुटेज खंगाले गए, कुछ फुटेज एवं हुलिए के आधार पर सोहागपुर पुलिस से बदमाशों का सुराग लगा। बल्लारशाह से डायरी आने से पहले पुलिस ने चोरी की इस वारदात का पर्दाफाश किया। पुलिस ने फरियादी से मोबाइल पर बात कर पूरे मामले की जानकारी ली।

Related Articles

Back to top button