अब सरकारी स्कूलों में बसों से पढ़ने जाएंगे विद्यार्थी

ग्वालियर
प्रदेश भर में खोले जा रहे सीएम राइज स्कूलों में कई तरह की सुविधाएं विद्यार्थियों के लिए शुरू होंगी। निजी स्कूलों की तरह ही सीएम राइज स्कूलों में विद्यार्थियों को लाने-छोड़ने के लिए बसों की व्यवस्था की जाएगी। 15 किलोमीटर के दायरे में आने वाले सरकारी स्कूलों को सीएम राइज स्कूलों में मर्ज किया जाएगा। इनमें नर्सरी से हायर सेकंडरी तक की कक्षाएं संचालित की जाएंगी। छात्रों को प्री-प्राइमरी और हायर सेकेंडरी स्तर पर सीबीएसई बोर्ड और आइसीएसई जैसी शिक्षा मिलेगी। इन स्कूलों में पढ़ाने के लिए शिक्षकों की नियमित आधार पर नियुक्तियां परीक्षा के जरिए होंगी। इन स्कूलों में बैंकिंग काउंटर, कैफेटेरिया, जिम, लाइब्रेरी, लैब और एनसीसी की सुविधा भी रहेगी। जिला स्तरीय स्कूलों में स्वीमिंग पूल, डिजिटल स्टूडियो, ट्रैक एंड फील्ड की सुविधा दी जाएगी।

जिला शिक्षा अधिकारी विकास जोशी ने बताया कि ग्वालियर जिले में कुल 143 स्कूलों का सीएम राइज स्कूल के लिए चयन किया है। पहले चरण में इनमें से आठ स्कूलों में सुविधाएं बढ़ाकर प्रवेश शुरू किए जा रहे हैं। इनमें चार स्कूल शहरी और चार ग्रामीण क्षेत्रों के हैं।  जिले में कंपू स्थित पद्मा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, शासकीय पटेल स्कूल हजीरा, माडल स्कूल मुरार, कन्या विद्यालय किलागेट सहित बेरजा, कुलैथ, भितरवार और डबरा स्थित विद्यालयों को सीएम राइज स्कूलों में परिवर्तित किया जाएगा। विभागीय अफसरों ने आर्किटेक्ट फर्म को जमीन व वर्तमान स्कूल दिखाकर नक्शे तैयार कराना भी शुरू कर दिया है। चूंकि इसी सत्र से सीएम राइज स्कूल शुरू किए जाने हैं, इस कारण वर्तमान विद्यालयों की इमारतों की रंगाई-पुताई व मरम्मत के लिए पांच-पांच लाख रुपये दिए गए हैं।

Related Articles

Back to top button