एक ही अनुभाग में तीन साल से अधिक समय वाले अफसरों का होगा तबादला

भोपाल

प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के चलते मैदानी पदस्थापना वाले ऐसे अफसरों को बदला जाएगा जिनको एक ही अनुभाग में तीन साल से अधिक समय हो चुका है। वहीं मुख्यमंत्री की रोजाना की समीक्षा में पुअर परफारमेंस और  भ्रक्ष्टाचार को लेकर जीरो टालसेंस नीति लागू नहीं कर पाने वाले चुनिदां कलेक्टर और एसपी को भी बदला जा सकता है। आयोग ने तीस मई तक इन सभी के तबादले करने को कहा है।
 राज्य निर्वाचन आयोग ने गृह विभाग, सामान्य प्रशासन विभाग, राजस्व विभाग, नगरीय प्रशासन विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को अनुभागों में जमे  ऐसे अफसरों को बदलने के निर्देश दिए है। जिनको तीन साल से अधिक एक ही स्थान पर हो गए है। जिनकी शिकायतें मिली है। उन सबको बदला जाना है।  एसपी, डीएसपी, टीआई, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, एएलआर, जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत सीईओ, नगर निगम कमिश्नर, अतिरिक्त कमिश्नर, उपायुक्त एवं नगर पालिका, नगर परिषदों में सीएमओ के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग को संयुक्त कलेक्टर, डिप्टी कलेक्टरों को बदलने को कहा है।

बदले जाएंगे कलेक्टर-एसपी
तीन साल से अधिक समय से एक ही स्थान पर जमे जिन पुलिस अफसरों को बदला जाना है उनमें शिवपुरी, धार, राजगढ़, शाजापुर जिलों के एसपी शामिल हैं। सिवनी एसपी खाली है। छिंदवाड़ा और नरसिंहपुर के एसपी भी बदले जा सकते है ये प्रतिनियुक्ति पर जा रहे है। इसके अलावा  पचास से अधिक एडीशनल एसपी और सीएसपी भी बदले जा सकते है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रोजाना जिलों की समीक्षा कर रहे है। इसमें पुअर परफारमेंस और जीरो टालरेंस नीति का पालन नहीं करने वाले कुछ कलेक्टर हटाए जा सकते है। अनुभागों में तीन साल से एक ही स्थान पर पदस्थ सत्तर से अस्सी डिप्टी कलेक्टर भी बदले जाएंगे। सिंगरौली, बुरहानपुर, मंडला, कटनी, शिवपुरी, मुरैना, छिंदवाड़ा और गुना के कलेक्टरों को भी बदला जा सकता है।

Related Articles

Back to top button