इंटेलीजेंस रिपोर्ट के आधार पर पेंशन योजना बहाली के प्रदर्शन से हो सकता है आमजन को खतरा, नहीं मिली अनुमति

भोपाल
पेंशन बहाली के लिए प्रदर्शन करने जा रहे कर्मचारियों के प्रदर्शन से आमजन को खतरा हो सकता है। इंटेलीजेंस की इस रिपोर्ट के अधार पर रविवार को पेंशन बहाली के लिए प्रदर्शन करने जा रहे संगठनों को अनुमति नहीं दी गई है। यह प्रदर्शन भोपाल के कलियासोत मैदान पर होने जा रहा था। मंजूरी नहीं मिलने के चलते अब संगठन ने भी प्रदर्शन करने से अपने पैर पीछे खींच लिए हैं। इस प्रदर्शन में प्रदेश भर से लोग भोपाल आने वाले थे।

इंटेलीजेंस ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि राष्टÑीय पेंशन योजना बहाली संगठन ने अनुमति के लिए दिए आवेदन में बताया है कि पांच हजार लोग इसमें शामिल होंगे, लेकिन उसे पता चला है कि इस आयोजन में 20-25 हजार लोग अपनी कार, बस से आने की सूचना है। वहीं प्रदर्शन करने के लिए स्थल के स्वामी और विभाग से संगठन ने अनुमति नहीं ली है। 20-25 हजार लोगों के वाहनों के कारण वहां का रास्ता जाम हो सकता है। आयोजक में भी कोई इतना प्रभावी नहीं है कि इतनी भीड़ को नियंत्रित कर सके। इससे शांति व्यवस्था भंग हो सकती है। वहीं इंटेलीजेंस की रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि प्रदर्शनकारी अग्निशमन यंत्र आदि की व्यवस्था भी सुनिश्चित नहीं कर सकें हैं। जिससे इतने बड़े आयोजन में घटना-दुर्घटना होने की संभावना बढ़जाती है। इससे आमजन को खतरा होने की भी संभावना है।

 इन कारणों से इस प्रदर्शन को अनुमति नहीं दिए जाने की सिफारिश की गई थी। इस रिपोर्ट के आधार पर भोपाल पुलिस ने इस प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी। जैन ने कहा है कि उनका संगठन रविवार को  प्रदर्शन नहीं करेगा। इसलिए प्रशासन को सूचना दी है कि यदि कोई अन्य संगठन प्रदर्शन करता है तो उसकी जिम्मेदारी उनकी नहीं होगी।

अब विधायकों और सांसदों का करेंगे घेराव
राष्टÑीय पेंशन योजना बहाली संगठन के प्रदेश अध्यक्ष संदीप कुमार जैन ने कहा कि शासन नहीं चाहता की उनका प्रदर्शन हो, अब भोपाल में प्रदर्शन नहीं करने दिया जा रहा है तो जल्द ही सभी विधानसभा क्षेत्रों में विधायकों और सांसदों का घेराव किया जाएगा और मांग की जाएगी कि वे भी पेंशन को छोड़ें।

Related Articles

Back to top button