विश्व पर्यटन दिवस पर विद्यार्थियों ने सीखे जनजातीय चित्रकला के गुर मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय का किया भ्रमण

भोपाल

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड, ट्राइबल लिशियश एम.पी और मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय के सहयोग से आइकॉनिक सप्ताह एवं विश्व पर्य़टन दिवस 27 सितंबर, 2022 को गोंड चित्रकला कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें डेक्कन इंटरनेशनल स्कूल, बेंगलुरू से आये विद्यार्थियों को मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय पर आधारित फिल्म दिखाई गई।

विद्यार्थियों ने संग्रहालय की विभिन्न दीर्घाओं, चित्र प्रदर्शनी, चिन्हारी सोविनियर शॉप और पुस्तकालय ‘लिखन्दरा’ का अवलोकन किया। उन्होंने संग्रहालय की दीर्घाओं एवं उनमें जनजातीय समुदाय की वाचिक और कला परम्परा के बेहतर प्रदर्शन तथा कलात्मक संयोजन को करीब से जाना।

चित्रकला कार्यशाला में विद्यार्थियों को म.प्र वाईल्ड लाइफ पर आधारित शॉर्ट फिल्म एवं अन्य फिल्मों से प्रदेश की परंपरा, संस्कृति, धरोहर, प्रकृति-पर्यावरण के बारे में बताया गया। पद्मसुदुर्गा बाई व्याम ने गोंड चित्रांकन परम्परा और उनके प्रतीकों के बारे में विद्यार्थियों को अवगत कराया और रंग ब्रश से चित्रांकन की कला को सिखाया भी।

निदेशक जनजातीय लोक कला एवं बोली विकास अकादमी डॉ. धर्मेंद्र पारे, उप-संचालक टूरिज्म बोर्ड युवराज पड़ोले, वरिष्ठ गोंड चित्रकार पद्मसुदुर्गा बाई व्याम, डेक्कन स्कूल की शिक्षिका सुसरायु रामचंद्रन के साथ अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

 

Related Articles

Back to top button