विश्व धरोहर दिवस पर एक दिवसीय परिसंवाद का आयोजन

भोपाल

विश्व धरोहर दिवस पर 18 अप्रैल को रविंद्र भवन सभागार में एक दिवसीय परिसंवाद आयोजित होगा। पुरातात्विक धरोहरों के संरक्षण और संवर्धन पर केंद्रित परिसंवाद में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय विदेश और संस्कृति राज्य मंत्री सुमीनाक्षी लेखी और मध्यप्रदेश की संस्कृति, पर्यटन और धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री सुउषा बाबू सिंह ठाकुर शामिल होंगी।

'आज़ादी का अमृत महोत्सव' में संचालनालय पुरातत्व, अभिलेखागार एवं संग्रहालय और स्वराज संस्थान द्वारा सुरेश मिश्र फाउंडेशन के सहयोग से परिसंवाद किया जा रहा है। परिसंवाद में मुख्य वक्ता राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा, पद्मद्वय के.के. मुहम्मद और कपिल तिवारी, प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक जे. नन्द कुमार, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सदस्य सचिव डॉ. सच्चिदानंद जोशी अपने विचार रखेंगे। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण, शौर्य स्मारक और कल्चरएमपी के यूट्यूब चेनल पर किया जाएगा।

यूनेस्को (संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक संगठन) द्वारा 18 अप्रैल 1982 में सर्वप्रथम विश्व धरोहर दिवस मनाया गया। तभी से विश्व के सभी देश इस दिन को विश्व धरोहर दिवस के रूप में मनाते हैं। विश्व धरोहर दिवस मनाने का उद्देश्य हमारी ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और पुरातात्विक विरासत की सुरक्षा के प्रति जन-सामान्य को जागरूक कराना है। अभियान में परिसंवाद, शोध संगोष्ठी, व्याख्यान, कार्यशाला, प्रदर्शनी, हेरीटेज वॉक आदि की एक सतत श्रृंखला का प्रारंभ संस्कृति विभाग और संचालनालय पुरातत्व, अभिलेखागार एवं संग्रहालय द्वारा किया जा रहा है। इस वर्ष 18 अप्रैल को प्रदेश के सभी संग्रहालय और राज्य संरक्षित स्मारक में दर्शकों का प्रवेश निःशुल्क रहेगा।

 

Related Articles

Back to top button