हाथियो के आतंक से लोगो मे दहशत

 

डिंडोरीइस समय लगातार हाथियो का आतंक फेला हुआ है।इसके पुर्व भी जंगली हाथियो ने ग्रामीण अंचलो मे काफी हद तक नुक्सान पहुचाया था जैसे की घर तोड़ना फसल नुकसान करना यहा तक की लोगो का घर से निकलना भी दूभर हो गया था।प्राप्त जानकारी के अनुसार अब जंगली हाथियो चलन वन परिक्षेत्र पश्चिम करंजिया के वन ग्राम चौराददार कक्ष क्रमांक 792(B) के आबादी इलाके में तांडव मचाने के बाद छह हाथियों का झुंड गुरुवार की रात रिजर्व फारेस्ट खारीडीह कक्ष क्रमांक 770 में दाखिल हो गया है। शुक्रवार की शाम तक गजराज यहीं पर चहलकदमी करते देखे गये, एक बेबी ELEPHENT के साथ सबसे बड़े शाकाहारी जानवर का मूवमेन्ट पंडरीपानी के जंगल की तरफ होने से अनुमान है कि जंगली हाथी बजाग के रास्ते कान्हा की तरफ पलायन कर सकते हैं।

 

हालांकि रेंजर पुष्पा सिंह के निर्देश पर डिप्टी रेंजर दिलीप पाठक, ईश्वर सिंह परस्ते सहित वन अमला जंगली हाथियों की निगरानी कर रहा है। गौरतलब है कि बुधवार की रात इस झुंड ने चौरादादर के आबादी इलाके में आमद देकर महेंद्र पिता पतिराम और बुधराम पिता देवान बैगा के घरों को पूरी तरह रौंद अंदर रखे अनाज तथा धान को निवाला बना लिया था। प्रभावित ग्रामीणों के नुकसान की भरपाई हेतु वन विभाग ने राजस्व विभाग को सूचित कर दिया है। इस बीच जंगली हाथियों की मौजूदगी से क्षेत्रीय वाशिन्दों में दहशत कायम है। हालांकि सुरक्षा और सावधानी के लिहाज से रेंजर पुष्पा सिंह ने आसपास के गांवों में मुनादी करवाकर ग्रामीणों को जंगल और जंगली हाथियों से दूर रहने की नसीहत दी है। वहीं मानव बस्तियों से हाथियों को दूर रखने पटाखे, मशाल और तेज आवाज वाले उपकरणों का उपयोग भी किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button