रीवा में पटवारी को 1500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

रीवा
 शिवराज सरकार (Shivraj Government) के निर्देश के बाद लोकायुक्त (lokayukt) द्वारा लगातार भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारी की धरपकड़ जारी है। इसके साथ ही लोकायुक्त पुलिस (loakyukt police) ने एक बार फिर से भ्रष्टाचार पटवारी को बेनकाब किया है। दरअसल ये कार्रवाई रीवा जिले के नईगढ़ी तहसील के हल्का इटहा में की गई है। लोकायुक्त ने रीवा में पटवारी को 1500 रुपए की रिश्वत (Rewa bribe) लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक की जमीन की इस्तलाबी के एवज में पटवारी ने ₹2000 की रकम की मांग की थी। जिसके बाद पटवारी की शिकायत पीड़ित ने लोकायुक्त में की। जिसमें सत्यापन कराने के बाद शिकायत को सही पाया। जिसके बाद आरोपी पटवारी को पकड़ने के लिए एक प्लान के तहत कार्रवाई की गई। वहीं बुधवार की सुबह देवतालाब स्थित प्राइवेट रूम के सामने रिश्वत के साथ पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया।

इस मामले में लोकायुक्त SP गोपाल सिंह ठाकुर का कहना है कि बुधवार की सुबह 11:00 बजे के आसपास राम नरेश रावत पटवारी हल्का इटावा तहसील नईगढ़ी को 1500 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया है। लोकायुक्त एसपी ने कहा कि उनके खिलाफ शिकायतकर्ता ने शिकायत दर्ज करवाई थी। रामनिवास तिवारी ने मामला दर्ज किया था। जिसे ऐसी कार्यालय पहुंच कर उन्होंने आवेदन दिया था। लोकायुक्त की माने तो आरोपी पटवारी राम नरेश रावत द्वारा हल्का ईटहा हडिया बदौआ की इस्तलाबी के लिए रिश्वत की मांग की गई थी।

जिसके बाद सत्यापन की प्रक्रिया पूरी की गई। वहीं सत्यापन में शिकायत सही पाए जाने के बाद एसपी के आदेश पर बुधवार को ट्रैपिंग का कार्य शुरू किया गया। जब आरोपी पटवारी ने पीड़ित को अपने कार्यालय ₹2000 की रकम के साथ बुलाया तो पीड़ित कृषक रामनिवास तिवारी 1500 रूपए के साथ आरोपी पटवारी के पास पहुंचा और जैसे ही पीड़ित किसान ने पटवारी को 15 सो रुपए की रकम दी लोकायुक्त ने पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles

Back to top button