PFI को MP के कई जिलों से मिला था चंदा, डोनर्स पर रखी जा रही है नजर

भोपाल
केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में प्रतिबंधित किये गए पॉपुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) को खरगौन के दंगों के बाद बड़ी मात्रा में चंदा दिया गया था। इसकी जानकारी पुलिस को लगी हुई। इस जानकारी के बाद प्रदेश पुलिस पीएफआई को आर्थिक मदद करने वालों पर नजर रखे हुए हैं। प्रदेश के कई शहरों से लाखों रुपए का चंदा पीएफआई को पिछले कुछ महीनों में दिया गया है।  

खरगोन में 10 अप्रैल को रामनवमी की शोभायात्रा के बाद हुए दंगे हुए थे। इस दंगे में पुलिस ने धरपकड़ शुरू की। इसके बाद दंगा पीड़ितों की मदद के नाम पर और पीएफआई को मजबूत करने के लिए  प्रदेश के कई शहरों में चंदा वसूली शुरू हुई। इसमें मालवा के कुछ जिलों से ही 50 लाख रुपए से ज्यादा का चंदा वसूल किया गया है। मालवा के अलावा भी प्रदेश के कुछ जिलों से इस संगठन को चंदा मिला। हालांकि जिस वक्त यह चंदा मिला उस वक्त इस संगठन पर प्रतिबंध नहीं था। इसकी जानकारी हाल ही में एनआईए और एटीएस की धरपकड़ के बाद सामने आई है।  

एटीएस ने इन सभी जानकारी के बाद चंदा देने वालों की सूची तैयार की है। हालांकि यह सूची अभी अधूरी बताई जाती है। एनआईए के सामने चंदा देने वाले जिन लोगोंं का खुलासा हुआ है उन पर अब कई तरह से नजर रखी जा रही है। उनकी आर्थिक स्थिति की भी पड़ताल की जा रही है।

हालांकि तब इस संगठन पर प्रतिबंध नहीं था, इसलिए पुलिस इन पर सीधे हाथ अभी नहीं डाल रही है, लेकिन अब इनमें से किसी ने पीएफआई को किसी भी तरह का सहयोग किया तो पुलिस उन पर एक्शन लेगी।

Related Articles

Back to top button