स्कूल, कालेजों कोचिंग सेंटर में पुलिस ने छात्र, छात्राओं को साइबर क्राइम के प्रति किया जागरूक

छतरपुर
जिला पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के निर्देशानुसार साइबर सेल द्वारा जिले के स्कूल कालेजों कोचिंग संस्थानों में अभियान चलाकर विद्यार्थियों को साइबर अपराध के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज सरस्वती कोचिंग सेंटर के छात्र छात्राओं को जागरूक किया गया।  विद्यार्थियों को जागरूक करते हुए थाना प्रभारी याकूब खान ने कहा कि वर्तमान समय में साइबर अपराध चरम पर है। आए दिन नए-नए तरीकों से लोगों को ठगा जा रहा है। इसे रोकने के लिए जागरूक होने की जरूरत है। सभी लोगों को यह समझना होगा कि साइबर अपराध करने वाले लोग बड़े चालाक होते हैं। बड़े सोशल प्लेटफार्म को सावधानी व सतर्कता के साथ प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से अपराधियों के द्वारा इंटरनेट मीडिया को साइबर क्राइम का एक सशक्त माध्यम बनाकर प्रयोग किया जा रहा है। उससे बचने के लिए विद्यार्थियों को खुद जागरूक होने के साथ ही दूसरों को भी जागरूक करना होगा। साथ ही उन्होंने कहां अगर आप बाइक चलाते या आपके परिवार में कोई बाइक चलाता है तो उन्हें जागरूक करे की वो बिना हेलमेड न निकले सड़क हादसों से बचना है तो हेलमेंड जरूर लगाएं
 इस अवसर पर थाना प्रभारी याकूब खान, आरक्षक पियूष, आरक्षक,आशीष यादव, संस्थान संचालक राजू दुबे , मनीष बड़ोनिया, उत्तम ठाकुर, सुरेंद्र भटेले,हिना अली, रिचा दुबे एवं बच्चे मोजूद रहे  कालेज स्टाफ सदस्य इत्यादि भी मौजूद रहे।

थाना प्रभारी ने सभी बच्चों को फेसबुक हैकिग, बारकोड़ के माध्यम से होने वाले फ्राड, वाट्सएप हैकिग से बचाव, फर्जी वेबसाइट से होने वाले फ्राड के संबंध में सावधानियां बरतने की सलाह दी। साथ ही उन्होंने फेसबुक, इंस्टाग्राम, वाट्सएप इत्यादि इंटरनेट मीडिया साइट्स से छात्रों को जागरूक रहने के लिए कहा। सिम कार्ड के माध्यम से, एटीएम कार्ड बदलकर, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड के माध्यम से, बायोमेट्रिक, क्यूआर कोड स्कैन, इंटरनेट मीडिया पर अनजान व्यक्ति से दोस्ती, फर्जी काल, अनजान वाट्सएप वीडियो काल, आनलाइन लोन देने वाले एप, इंटरनेट मीडिया पर रुपयों की मांग करने वालों से, गूगल से कस्टमर केयर नंबर सर्च करने बारे व यूपीआइ संबंधित फ्राड के प्रति भी छात्रों को जागरूक किया गया।

Related Articles

Back to top button