प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने 19 कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी

भोपाल
मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने पचास वर्ष की उम्र और बीस वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले करने वाले 19 कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति देकर नौकरी से हटा दिया है। इस आदेश से कर्मचारियों में हड़कंप मच गया है। कर्मचारियों ने सीएम को शिकायत कर आदेश वापस लेने की मांग की है।  पचास वर्ष की आयु और बीस वर्ष की सेवा पूरी करने वाले शासकीय सेवकों के सेवा अभिलेखों की छानबीन कर समीक्षा करने के लिए छानबीन समिति की बैठक बुलाई गई थी।

इस बैठक में की गई अनुशंसा के आधार पर राज्य बोर्ड की 160 वी बैठक में अनुमोदन लेने के बाद  इन कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने के आदेश जारी किए गए है। जिन अधिकारियों और कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है उनमें वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी  मुख्यालय प्रेमचंद उचारिया, वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी अमोल दास संत, कार्यपालन यंत्री प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ग्वालियर क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थ रमेश कुमार रोहितास, वैज्ञानिक क्षेत्रीय कार्यालय शहडोल आनंद किशोर दुबे, वैज्ञानिक क्षेत्रीय कार्यालय कटनी राहुल द्विवेदी, सहायक यंत्री क्षेत्रीय कार्यालय छिंदवाड़ा अरविंद तिवारी, मुख्य रसायनज्ञ क्षेत्रीय कार्यालय उज्जैन सुनील श्रीवास्तव, सतना क्षेत्रीय कार्यालय में रसायनज्ञ अनूप कुमार श्रीवास्तव, शीघ्रलेखग ग्रेड दो क्षेत्रीय कार्यालय शहडोल विनोद केमिया, आंचलिक कार्याल्य इंदौर में शीघ्रलेखक ग्रेड दो कृष्णा मेहता, क्षेत्रीय प्रशेगशाला इंदौर में उच्च श्रेणी लिपिक आशा राठौर आदि को सेवानिवृत्ति दी है।

, क्षेत्रीय कार्यालय कटनी में लेखापाल विजय शंकर पाठक, मुख्यालय में पदस्थ निम्न श्रेणी लिपिक  गीता तिवारी, क्षेत्रीय कार्यालय रीवा में वाहन चालक गोपाल पांडे, उज्जैन श्रेत्रीय कार्यालय में भृत्य सुरेश सोनबड़े, इंदौर क्षेत्रीय कार्यालय में भृत्य अर्जुन सिंह परिहार, भोपाल कार्यालय में भृत्य शोभा ढोके को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है। एम्पलाइज फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष अनिल बाजपेयी और उपक्रम संघ के प्रांताध्यक्ष अरुण वर्मा ने  मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इन आदेशों को निरस्त करने की मांग की है। ऐसा नहीं किए जाने पर दो जून को कर्मचारी इस आदेश के विरोध में धरना देकर प्रदर्शन करेंगे। प्रदूष्ज्ञण नियंत्रण बोर्ड के सामने अनिवार्य सेवानिवृत्ति के इन आदेशों की होली जलाई जाएगी।

Related Articles

Back to top button