लोक निर्माण विभाग की कार्रवाई, हटाए गए स्पीड ब्रेकर

भोपाल
लोक निर्माण विभाग ने राजधानी में यातायात पुलिस द्वारा विभिन्न स्थानों पर लगाए गए स्पीड ब्रेकर विस्थापित कर दिए गए हैं। इंडियन रोड कांग्रेस की गाइडलाइन के विपरीत लगाए गए इन स्पीड ब्रेकर के कारण लोगों को आने जाने में दिक्कत होती रही है। प्रदेश के अन्य जिलों में भी लगाए गए ऐसे स्पीड ब्रेकर को हटाने की मांग की जा रही है, जिस पर विभाग जल्द निर्णय ले सकता है।

प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग को राजधानी में सड़कों पर लगाए गए स्टापर के नियम विरुद्ध होने की जानकारी दी गई थी। साथ ही इससे होने वाली परेशानी से भी अवगत कराया गया था। इसका परीक्षण कराने और कार्यवाही के निर्देश विभाग ने मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग को दिए थे। इसके बाद मुख्य अभियंता ने नगर निगम भोपाल के कमिश्नर और पुलिस अधीक्षक यातायात पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर कहा है कि यातायात पुलिस द्वारा भोपाल शहर की सड़कों पर कुछ समय पर लगाए गए स्पीडब्रेकर आईआरसी (इंडियन रोड कांग्रेस) के मापदंडों के विपरीत थे। इसलिए इन्हें विस्थापित करने का फैसला लेना पड़ा है। जो स्पीड ब्रेकर लगाए गए थे वे सुरक्षित और सुगम यातायात के लिए उपयुक्त नहीं थे।

मुख्य अभियंता ने यह भी कहा है कि भविष्य में यदि स्पीड ब्रेकर लगाने हों तो जिला यातायात समिति से अनुमोदन कराने के बाद जिस विभाग की सड़क है, उसकी अनुमति लेकर आईआरसी के मापदंडों के अनुसार ही लगाए जाएं। गौरतलब है इन स्पीड ब्रेकर के कारण दो पहिया वाहन चालकों के वाहन उछल जाते हैं और लहराने के कारण दुर्घटना का खतरा रहता है। साथ ही चार पहिया वाहन चालकों के लिए भी इनसे दिक्कत हो रही थी।

Related Articles

Back to top button