अस्पतालों और स्कूलों के आसपास की गुटखें आदि नशीली सामग्रियों की गुमटियां हटाएं : कलेक्टर

  • एसडीएम सुरक्षात्मक दृष्टि से सभी छात्रावासों का करें निरीक्षण
  • कलेक्टर ने टीएल बैठक में अधिकारियों को दिए महत्वपूर्ण निर्देश

छतरपुर
कलेक्टर छतरपुर श्री संदीप जीआर ने सोमवार को टीएल प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में निर्देश देते हुए कहा कि समयसीमा में प्रकरण निपटाएं एवं भविष्यात्मक उत्तर न डाले। कलेक्टर श्री जीआर ने नशामुक्ति अभियान की गंभीरता से समीक्षा करते हुए कहा कि महिला एवं बाल विकास, शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग संयुक्त रूप से नशामुक्ति अभियान में तेजी लाएं तथा बच्चों को शपथ दिलाएं। उन्होंने कहा कि ब्लॉक स्तर पर भी अस्पतालों एवं स्कूलों के 50 मीटर के दायरे में गुटखा, सिगरेट आदि नशीली सामग्रियों की गुमटियां नहीं रहेगीं, ऐसी सभी गुमटियों को हटाएं। लेकिन अगर देखा जाए तो लगभग 80% दुकानें पूरे जिले में नशीली सामग्रियों की देखने को मिल रही है लेकिन उनको हटाने की बात तो छोड़ो उन पर फोकस तक नहीं किया जाता है ना ही कोई ठोस कार्रवाई की बात की जाती है भले ही निर्देश कुछ भी दिए गए हो जब तक खुद जिला कलेक्टर ध्यान न दें लेकिन फिर भी उन्होंने पीओडूडा और जनपद सीईओ को निर्देश दिए की स्वच्छ सर्वेक्षण अंतर्गत सार्वजनिक शौचालयों के बाहर अतिक्रमण और कचरा न रहें, उन्होंने निकाय और जनपदवार इस कार्य को सुनिश्चित करने को कहा। कलेक्टर श्री जीआर ने सभी एसडीएम को व्यवस्थाओं और सुरक्षात्मक दृष्टि से सभी प्रकार के हॉस्टलों का निरीक्षण करने को कहा। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री ए.बी. सिंह, एडीएम श्री पी.एस. चौहान सहित एसडीएम और विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

कॉल सेंटर स्थापित करने के निर्देश

कलेक्टर श्रीआर ने स्वास्थ्य विभाग के प्रसूती संबंधित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा जिला अस्पताल में एक कॉल सेंटर शुरू करें तथा प्रसूताओं को शासकीय योजनाओं में मिलने वाले लाभ की सतत् जानकारी ली जाए तथा 15 दिनों तक शिशु के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि बच्चे के जन्म से अगले तीन दिवस में ही मां को सभी योजनाओं का लाभ मिल जाए। उन्होंने जिला अस्पताल की ब्लड सेपरेशन मशीन को क्रियाशील करने के संबंध में तत्काल ड्रग अधिकारी को भोपाल जाते हुए इस संबंध में जरूरी कार्यवाही पूर्ण कराकर जल्द-जल्द से मशीन को चालू कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा बड़ामलहरा और नौगांव में अल्ट्रासाउण्ड सेवा को शुरू किया जाए।
कलेक्टर श्री जीआर ने कहा कि सभी एनआरसी में शत्-प्रतिशत बच्चों के एडमीशन हो और कोई बेड खाली न रहें। जो बच्चें ठीक होते जाएं उनकी जगह दूसरे चिन्हित बच्चों को एनआरसी में रखें। उन्होंने प्रतिदिन महिला बाल विकास अधिकारी को रिब्यू करने के निर्देश दिए।

अस्पतालों में फायर सेफ्टी संबंधी कार्यवाही में खानापूर्ति न करें

कलेक्टर ने सीएमएचओ को सख्त लहजे में निर्देशित करते हुए कहा जिले और शहर में संचालित प्रायवेट नर्सिंग होम व अस्पतालों फायर सेफ्टी संबंधित सभी सुरक्षात्मक उपाए सुनिश्चित रहे। उन्होनें कहा कि इस मामले में खानापूर्ती नहीं चलेगी, गंभीरता से भ्रमण करते हुए कमीयां मिलने पर कठोर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि जिले के सभी पीएससी और सीएससी केन्द्रों पर डॉक्टर एवं स्टॉफ समय से मिले। अगर जो लापरवाही करें, उनकी सैलरी काटें।

खाद्यान्न संबंधित ब्लॉक स्तर पर रिब्यू करें

कलेक्टर श्री जीआर ने एसडीएम को निर्देशित करते हुए कहा खाद्यान्न संबंधित ब्लॉक स्तर पर रिब्यू करें तथा खाद्य अधिकारी पर सख्त होते हुए कहा कि गेहूं का आवंटन राशन दुकानों पर यथा समय पहुंचें एवं समय पर वितरण हो। उन्होंने कहा पात्र कोई भी हितग्राही न छूटे।

बीमा योजनाओं के बैंकों में लगेंगे मेजर कैम्प

कलेक्टर ने पीएचई विभाग और जनपद सीईओ को जल से जुड़ी समस्याओं को संयुक्त रूप से निपटानें को कहा। उन्होंने कहा कि जहां पेय जल संबंधी समस्याएं है, वहां कैम्प लगाएं और निराकरण करें। उन्होंने बसारी के पास ग्राम टुरिया में मंगलवार को ही कैम्प लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने पीएम किसान योजना में लाभार्थियों के कैम्प लगाकर केवायसी कराने को कहा और बैंकिंग संबंधित बीमा योजनाओं के संबंध में एलडीएम को निर्देशित किया कि सभी बैंकों में मेजर कैम्प लगाएं जिससे आम-जन को बीमा योजनाओं जानकारी हो सके तथा वह लाभ लें सकें।

आवारा पशुओं को गौशालाओं में शिफ्ट करने में लाएं तेजी

 

कलेक्टर ने यूडीआईडी कार्ड बनानें के संबंध में सीईओ जपं और पीओडूडा को निर्देशित किया कि कैम्प लगाकर ज्यादा से ज्यादा यूडीआईडी कार्ड बनाएं। उन्होंने कम प्रोग्रेस होने पर सीएमओ चंदला, लवकुशनगर और घुवारा को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अंकुर अभियान में भी लक्ष्यवार प्रोग्रेस बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि जिन गौशालाओं को अनुदान राशि मिल रही है उन सभी में अवारा पशुओं को शिफ्ट करने की कार्यवाही में तेजी लाए। छतरपुर शहर में एक किसी पार्क का दिव्यांगजनों की सुविधानुसार चयन करते हुए उसे दिव्यांग पार्क में परिवर्तित करें। कलेक्टर ने पीडब्ल्यूडी और पीआईयू को निर्देशित किया कि किसी भी भवन, स्कूल या छात्रावास के कैम्पस के अंदर अलग से एक और कंपाउण्ड न बनाया जाए।

कृमि संक्रमण से बचने एल्बेंडाजॉल का सभी को करना है सेवन

कलेक्टर ने 13 सितंबर राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस के संबंध में कहा कि सभी को कृमि संक्रमण के नियंतत्र और निवारण के लिए एल्बेंडाजॉल की गोली का सेवन ठीक से चबा-चबाकर करना है। उन्होंने डीपीसी को निर्देश दिए की सेवन के संबंध में डॉक्टर की सलाह के अनुसार स्कूलों में सभी बच्चों को इस गोली का सेवन कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि कृमि मनुष्य की आंत में रहते हैं और जीवित रहने के लिए मानव शरीर के जरूरी पोषक तत्व को खाते हैं।
देखना होगा कि कितनी गंभीरता जिला प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी निभा पाते है

Related Articles

Back to top button