मैहर में बनी करोड़ों की सड़कें गारंटी अवधि में हो गई खराब, नोटिस

भोपाल
 प्रदेश की धार्मिक नगरी मैहर में  किसान सड़क निधि से तेरह सड़कों के निर्माण के लिए  राज्य सरकार ने 31 करोड़ 50 लाख रुपए स्वीकृत किए।  तीन सड़कें पूरी नहीं हो पाई तो शेष दस सड़कें गारंटी अवधि में ही  खराब हो गई। इसको लेकर सरकार ने ठेकेदारों को नोटिस थमाया और उनके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की गई।

भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी के सवाल के लिखित जवाब में कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि मैहर विधानसभा क्षेत्र में वर्ष 2015 से 2017 के बीच किसान सड़क निधि से तेरह सड़कों को मंजूरी दी गई थी। इनके निर्माण पर ठेकेदारों को 31 करोड़ रुपए दिए गए थे। कुल 44 किलोमीटर की तेरह सड़कें बनाई गई थी।

स्वीकृति के बाद भी नहीं बनी तीन सड़कें
खुरखमा से सुकवारी के बीच तीन किलोमीटर लंबी सड़कें भूमि नहीं मिलने निरस्त कर दी गई। वहीं लटागांव से इटहरा के बीच बनने वाली सड़क ठेकेदार केके सोहगौरा ने पूरी नहीं की।  बडारी से जोवा के बीच चार किलोमीटर लंबी सड़क भी ठेकेदार केके सोहगौरा ने नहीं बनाई। मैहर के लिए स्वीकृत दस पूर्ण हुई सड़कें आवागमन के दौरान अनुबंधित अवधि में ही क्षतिग्रस्त हो गई। सभी ठेकेदारों को सुधार कार्य के लिए नोटिस जारी किए गए। इनमें से एक ठेकेदार द्वारा समय पर काम नहीं करने पर उसके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की गई।

Related Articles

Back to top button