Sagar News: मामूली विवाद के बाद दो पक्षों में चली गोलियां, दो की मौत

Sagar News: मंडीबामोरा पुलिस चौकी अंतर्गत ग्राम शेखपुर में देर रात हुई घटना। घायलों में दो की हालत नाजुक। सागर रेफर।

Sagar News: उज्जवल प्रदेश, सागर/बीना. मंडीबामोरा पुलिस चौकी अंतर्गत ग्राम शेखपुर में शुक्रवार रात दो पक्षों में झगड़ा हो गया। बात ही बात में झगड़े ने बड़ा रूप ले लिया और एक पक्ष के डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों ने हथियारों से हमला कर दिया। इस दौरान गोलियां भी चलीं और कुल्हाड़ी, लाठियों से भी प्रहार किए गए। इस हमले दो लोगों की मौत हो गई, जबकि पांच लोग घायल हुए हैं, जिनमें दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें सागर रैफर किया गया है। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर फरार हो गए। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

डेढ़ दर्जन लोगों ने किया हमला – Sagar News

जानकारी अनुसार ग्राम शेखपुर में रात्रि 9 बजे के आसपास किसी बात पर रूपेंद्र यादव, मलखान यादव का गांव के ही निर्भय यादव, नितिन यादव व अन्य लोगों से झगड़ा हुआ। बात ही बात में विवाद ने बड़ा रूप ले लिया और नितिन, निर्भय, कमल यादव सहित अन्य लगभग डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों ने बंदूक, कुल्हाड़ी, लाठियां लेकर मलखान यादव के घर पर हमला कर दिया। आरोपितों ने मलखान के घर पर अंधाधुंध फायरिंग की। धारदार हथियारों से भी हमला किया।  (Sagar News)

हमले में सरस्वती पति मलखान यादव 45 वर्ष के सिर में कुल्हाड़ी लगने से सिर फट गया। साथ ही शरीर में छर्रे भी लगे। रूपेंद्र पिता मुन्ना यादव 26 वर्ष निवासी ऐचनवारा को 18 से अधिक छर्रे लगे। वहीं मलखान यादव 50 वर्ष, हरिसिंह यादव 45 वर्ष, पार्वती यादव 42 वर्ष व विमला यादव 40 वर्ष सहित नरेश यादव घायल हो गए। सातों घायलों के साथ ग्रामीण रात्रि में ही मंडीबामोरा पुलिस चौकी पहुंचे। पुलिस ने घायलों को मंडीबामोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। वहां उपचार न मिलने पर उन्हें बीना अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टर ने चेक करने के बाद सरस्वती यादव व रूपेंद्र यादव को मृत घोषित कर दिया। वहीं मलखान यादव व हरिसिंह यादव को गंभीर रूप से घायल होने पर जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया। अन्य घायलों का बीना अस्पताल में उपचार किया जा रहा है।

Also Read: MP News: मध्‍य प्रदेश के 43 जिलों में शुरू हुई साइबर तहसील

एसडीओपी, थाना प्रभारी पहुंचे

घटना की जानकारी मिलने पर आगासौद सहित खिमलासा थाने की पुलिस अस्पताल पहुंच गई। शवों को मर्चुरी में रखवाया गया और शेखपुर में आरोपितों की तलाश में पुलिस को पहुंचाया गया। लेकिन आरोपित नहीं मिले। इधर शनिवार सुबह एसडीओपी प्रशांत सुमन, खिमलासा थाना प्रभारी मोहन मर्सकोले सहित पुलिस बल अस्पताल में पहुंचा और पीड़ित पक्ष के बयान लिए।

जिला बदर हैं आरोपित

जिन लोगों ने हमला किया उनमें से निर्भय यादव, नितिन यादव व कमल यादव जिला बदर किए गए थे। मृतक के स्वजनों ने बताया कि उनका क्षेत्र में पहले से ही आतंक है। घटना के बाद से गांव वाले भयभीत हैं और पूरे गांव में दहशत का माहौल है। स्वजनों के अनुसार आरोपितों ने योजनाबद्ध तरीके से घटना को अंजाम दिया है। गोलियां इतनी चलाई गईं कि दीवारों में भी निशान हो गए हैं। मामले में एसडीओपी प्रशांत सुमन का कहना है कि पूरे मामले में जांच जारी है। आरोपितों की तलाश की जा रही है।

DA Hike: सरकार नए साल पर कर्मचारियों को देगी तोहफा, सैलरी बढ़कर इतनी हो जाएगी

Show More

Related Articles

Back to top button