भरी बरसात मे नदी से निकाली जा रही रेत, दुर्घटना का कौन जिम्मेदार

व्योहारी
मानपुुर के बीच शिवा कांट्रैक्शन द्वारा सोन नदी में जिस तरह कई मशीनो से रेत का दिन रात उत्खनन किया जा रहा है। उससे यह कहना गलत नही होगा कि इस अबैध उत्खनन को जानते हुऐ भी आखिर शासन प्रशासन के जिम्मेदार अनदेखी कर मूक दर्शक क्यो बने हुए हैं। यह  सवाल यहां चर्चा में बना हुआ है। ग्रीन ट्रिब्यूनल के दिशा निर्देशों के विपरीत पर्यावरण के विरुद्ध प्रतिबन्ध के बाद भी नदी के बीच मशीन उतार बड़ी मात्रा में रेत का अबैध उत्खनन चालू है! सूत्रों की मानें तो वर्षाकाल में  दिनांक 20 जुलाई से शिवा कांट्रेक्शन द्वारा शांम को नदी में मशीन उतार कर पूरी रात उत्खनन किया जाता है।सोन नदी के बलौंढ मानपुर तरफ से सैकडों ओवरलोड हाइवा ट्रको के रात दिन निकलने से सड़कों का कचूमर निकल रहा है। आए दिन होने बाली दुर्घटनाएं और जगह-जगह लगने बाले जाम का प्रमुख कारण रेत की ओवर लोड अबैध गाड़ियां ही है।।

शिवा कांट्रेक्शन के अवैध रेत उत्खनन के खिलाफ आमजनता खोलेगी मोर्चा।  प्रतिबंध के बाद भी शिवा कांट्रेक्शन निकाल रहा सोननदी से रेत।

 मानपुर ब्लाक के बलौंढ सोन घाट के अमिलियां,मुहं बोला खदान से किया जा रहा अबैध रेत उत्खनन। ओवर लोडिंग के विरुद्ध क्षेत्र की जनता सड़क में उतर विरोध जताने को फिर तैयार हैं। सरकार और उसके स्थानीय जनप्रतिनिधियों की कार्य शैली से खिन्न लोग सड़क में उतरने को मजबूर है। क्षेत्र की जीवन दायनी नदी में पूर्ण प्रतिबंध के बाद यहां तेजी से रेतमाफिया क्षेत्र की प्रमुख जीवनदायिनी  सोननदी को छलनी कर चाँदी काट रहा है। सड़कों में अनवरत दौड रहे ओवर लोड रेत के वाहन सड़क का कचूमर निकाल शासन की संपत्ति को नष्ट कर रहे है। वहीं नदी के जलीय जीवजंतु दिनों दिन विलुप्त हो रहे है।अवैध उत्खनन और ओवरलोडिंग के खिलाफ कार्यवाही करने मे शासन प्रशासन उदासीन बना हुआ  है।

Related Articles

Back to top button