श्रियांशी परदेशी को रेलवे बैडमिंटन स्पर्धा में दोहरी सफलता

इंदौर
 इंदौर की श्रियांशी परदेशी ने 68वीं अखिल भारतीय अंतर रेलवे बैडमिंटन स्पर्धा में दोहरी सफलता हासिल की। श्रियांशी के जोरदार प्रदर्शन से पश्चिम मध्य रेलवे की टीम ने महिला टीम खिताब भी हासिल किया।

24 वर्षीय श्रियांशी परदेशी पश्चिम मध्य रेलवे भोपाल में पदस्थ हैं। विशाखापत्तनम में हुई स्पर्धा में श्रियांसी परदेशी ने महिला एकल फाइनल में उत्तर रेलवे की अनुरा प्रभुदेसाई को 21-12, 21-18 से पराजित किया। हालांकि टीम मुकाबले के फाइनल में श्रियांशी को अनुरा प्रभुदेसाई से 18-21, 22-24 से हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद महिला युगल फाइनल में श्रियांशी और वैष्णवी भाले की जोड़ी ने उत्तर मध्य रेलवे टीम की तपस्विनी और शिवानी की जोड़ी को संघर्षपूर्ण मुकाबले में 17-21, 21-14, 21-19 से पराजित किया।

टीम मुकाबले में पश्चिम मध्य रेलवे ने उत्तर रेलवे को 2-1 से हराकर महिला खिताब भी जीता। एकल मैच हारने के बाद श्रियांशी परदेशी और भारती पाल की जोड़ी ने युगल में अनुराग प्रभुदेसाई और कनिका कंवल को 21-17, 15-21, 21-13 से हराया। भारती पाल ने कनिका कंवल को 21-14,11-4 (मैच छोड़ा) से हराया।

सेमीफाइनल में पश्चिम मध्य रेलवे ने दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे को 2-0 से पराजित किया। इस दौरान श्रियांशी परदेशी ने प्रीति को 21-13, 21-9 से एवं युगल में श्रियांशी और भारती की जोड़ी ने दीक्षा चौधरी और के. प्रीति को 21-12,21-16 से पराजित किया। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिला की खुशबू पटेल भी विजेता पश्चिम मध्य रेलवे टीम में शामिल हैं।

श्रियांशी परदेशी के कोच रहे धर्मेश यशलहा ने बताया कि श्रियांशी ने लंबे समय के बाद स्पर्धात्मक गतिविधि में हिस्सा लिया है। श्रियांशी देश की नंबर एक महिला खिलाड़ी रह चुकी हैं। कोरोना काल के बाद अपनी चोट से उबरकर वे पिछले साल दिसंबर में हैदराबाद में हुई अखिल भारतीय बीएआइ सीनियर सीरीज रैंकिंग बैडमिंटन टूर्नामेंट में खेली थीं। इंदौर की राष्ट्रीय बैडमिंटन अंपायर रेलवे की स्नेहा धनोधकर ने पहली बार इस स्पर्धा में मुख्य निर्णायक की भूमिका निभाई।

Related Articles

Back to top button