विंध्य क्षेत्र की विद्युत पारेषण व्यवस्था में हुआ उल्लेखनीय सुधार

मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के नये 220 के व्ही फीडर से सप्लाई प्रारंभ

रीवा
मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने  अपने महत्वाकांक्षी डबल सर्किट फीडर 220 के व्ही रम्स(गुढ़)-सिलपरा (रीवा) का निर्माण कार्य पूरा कर एक महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है। जिससे विंध्य क्षेत्र में मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के पारेषण नेटवर्क की विश्वसनीयता में अभूतपूर्व सुधार हुआ है। गत दिवस इस लाइन के ऊर्जीकृत होने के साथ गुढ़ में स्थापित केंद्रीय पावर ग्रिड सबस्टेशन से बिजली का पारेषण मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी  के सिलपरा रीवा सबस्टेशन तक  पारेषण लाईन से प्रारंभ हो गया। रीवा एवं सतना जिलों को   रीवा स्थित 220 के व्ही सबस्टेशन सिलपरा एंव  सतना स्थित 220 के व्ही सबस्टेशन कोटर को पावर ग्रिड से बिजली  की उपलब्धता होगी।

कठिन  मैदानी परिस्थितियों में पेचीदा आर ओ डब्ल्यू समस्याओं से जूझने के बाद मिली सफलता
मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के मुख्य अभियंता श्री आर. के. खंडेलवाल ने बताया कि 220 के व्ही रम्स(गुढ़)-सिलपरा रीवा के निर्माण के दौरान अनेक चुनौतियों का सामना मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी को करना पड़ा। लाइन निर्माण के समय अनेक पेचीदा आर ओ डब्ल्यू (जमीन मुआवजे के प्रकरण) आये और कई स्थानों पर निर्माण को लेकर विवाद होने से न्यायालयीन प्रक्रिया से भी गुजरना पड़ा। लेकिन इन तमाम बाधाओं के बावजूद मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी इसका निर्माण करवाने में सफल रही। मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के लिए इसका निर्माण मेसर्स यूनिटेक पावर ट्राँसमिशन ने किया।

विंध्य में पहली बार अत्याधुनिक तकनीक केएच.टी.एल.एस. कंडक्टर का उपयोग हुआ – श्री  खंडेलवाल ने बताया कि  विंध्य क्षेत्र में पहली बार इस 33 किलोमीटर  लंबी डबल सर्किट लाइन में  मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने अत्याधुनिक तकनीक के एच.टी.एल.एस. कंडक्टर का उपयोग किया। प्रचलित जेबरा कंडक्टर के  मुकाबले लगभग 2 गुना अधिक लोड सहन करने वाले इस कंडक्टर से गर्मी व लोड सीजन में भी रीवा-सतना समेत पूरे विंध्य क्षेत्र में  गुणवत्तापूर्ण एंव विश्वसनीय विद्युत पारेषण संभव हो सकेगा।

Related Articles

Back to top button