साहब- मैं अभी जिंदा हूं मरा नहीं..मेरी जमीन वापिस दिला दो?

बक्सवाहा
इस समय राजस्व विभाग अपने नए-नए कारनामों के खुलासे करने में चर्चा में बना हुआ है तहसील में आए नए तहसीलदार श्यामा शरण चौबे के द्वारा लगातार पुराने रिकॉर्ड को खंगाला  लगातार किसानों की समस्याओं को सुना  जा रहा है। अभी तक राजस्व में ऐसे कई मामले  आ चुके है जो रोंगटे खड़े करने वाले हैं, राजस्व के एक मामले में सुनहरा निवासी   हीरा अहिरवार के द्वारा तहसील में आवेदन प्रस्तुत करके अपने जिंदा होने का सबूत दे रहा है।

मामला बक्सवाहा राजस्व का है जहां एक किसान अपने जिंदा होने का सबूत दे रहा है जिंदा रहते हुए भी उसे मृत घोषित कर फौती नामांतरण करा दिया गया।

हीरा अहिरवार पिता छेदीलाल अहिरवार निवासी सुनहरा द्वारा तहसील में एक आवेदन दिया गया और जानकारी देते हुए बताया गया की मेरी भूमि बक्सवाहा में स्थित खसरा नंबर 2102/3/1/1किता 01रकवा0.223 हेक्टेयर भूमि राजस्व में वर्ष 2019 से 2021 तक मेरे नाम दर्ज थी लेकिन मेरी जमीन को 7 लोगों के नाम पर मुझे मृत घोषित कर फौती नामांतरण क्रमांक0556/अ-6/2021-22 को अपने नाम दर्ज करा ली है। शपथ प्रमाण पत्र पटवारी रिपोर्ट पंचनामा के आलावा सजरा के साथ फोती नामातरण फर्जी  मे सब गोलमाल दिख रहा है

जांच जारी दोषियों पर होगी कार्यवाही
तहसीलदार श्यामाचरण चौबे ने जानकारी देते हुए बताया है कि पूर्व में हुई फर्जी रजिस्ट्री मैं यह तथ्य सामने निकल कर आए हैं कि जो फर्जी तरीके से रजिस्ट्री की गई थी उसमें आधार कार्ड के साथ छेड़खानी की गई है आधार कार्ड में नाम और पिता का नाम बदल दिया गया अब जांच जारी है जांच में रजिस्ट्रारी आफिस से संबंधित लोगो  की गलती मानी जा रही है जांच के बाद सही तथ्य सामने निकल कर आएंगे। और जो भी दोषी होगा उसके ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Related Articles

Back to top button