हमीदिया हॉस्पिटल में पहली बार हुई बिना चीर-फाड़ के स्पाईन सर्जरी

भोपाल

भोपाल के शासकीय हमीदिया चिकित्सालय में पहली बार बिना चीर-फाड़ के सफलतापूर्वक एक मरीज की स्पाईन सर्जरी की गई। इसमें बड़ी बात यह भी है कि ऑपरेशन 4 को हुआ और अगले दिन 5 अप्रैल को मरीज घर भेज दिया गया। चिकित्सा क्षेत्र में यह उपलब्धि देने वाले अस्थि रोग विभाग के डॉ. वैभव जैन, डॉ. आशीष गोहिया और डॉ. राहुल वर्मा हैं जिन्हें इस स्पाईन सर्जरी में डॉ. राजकुमार अहिवाल और डॉ. वीना ने सहयोग किया।

भोपाल निवासी 50 वर्षीय अशोक शर्मा डिस्क प्रोलेप्स की समस्या से लगभग 2 माह से पीड़ित थे। डिस्क की समस्या से मरीज का चलना-फिरना दूभर हो गया था। मरीज को जब दवाओं और अन्य उपायों से आराम नहीं मिला तब अन्त में सर्जरी का निर्णय लिया गया और ऑपरेशन सफल होने के दूसरे दिन मरीज को डिस्वार्ज भी कर दिया गया।

एंडोस्कोपिक स्पाईन सर्जरी में विशेष प्रशिक्षण प्राप्त डॉ. वैभव जैन ने बताया कि मरीज का ऑपरेशन नवीनतम तकनीक यूनी लेटरल बायोपोर्टल एंडोस्कोपी द्वारा किया गया। यह एक मिनीमल इनवेजिव तकनीक है। इसमें पेन के आकार जितने उपकरण एवं दूरबीन द्वारा स्पाईन सर्जरी की जाती है, जो ओपन सर्जरी तकनीक से अधिक सुरक्षित है। इस तकनीक में मरीज का अस्पताल में भर्ती का समय, ब्लड लॉस, कमर दर्द आदि ओपन सर्जरी से बहुत कम होता है और सर्जरी के बाद मरीज पुनः अपने कार्य पर जल्दी लौट सकता है।

भोपाल के हमीदिया चिकित्सालय में डॉ. सुनीत टण्डन प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष के निर्देशन में स्पाईन इज्यूरी सेन्टर संचालित है, जहाँ विश्व-स्तरीय तकनीक द्वारा स्पाईन (रीढ़ की हड्डी) रोग का इलाज कर प्रदेश की जनता को स्वास्थ्य लाभ दिया जा रहा है।

 

Related Articles

Back to top button