प्रदेश की गौरांशी शर्मा ने डेफ ओलम्पिक में जीता स्वर्ण पदक

भोपाल

 

 देश के खेल मानचित्र पर मध्य प्रदेश (MP News) का परचम लहराने लगा है, देश को बेहतरीन खिलाड़ी दे रही मध्य प्रदेश की अकादमी ने एक बार फिर नाम रोशन किया है। मप्र राज्य बैडमिंटन अकादमी की एक खिलाड़ी ने ब्राजील में चल रहे डेफ ओलंपिक में टीम इवेंट में स्वर्ण पदक (gold medal) जीतकर मध्य प्रदेश का गौरव (Gold medal for MP player) बढ़ाया है। खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Sports Minister Yashodhara Raje Scindia)  ने खिलाड़ी अपने ट्विटर एकाउंट पर की बचपन की तस्वीर और नई तस्वीर शेयर कर ख़ुशी जताई है, उन्होंने लिखा है गौरांशी अब बड़ी हो गई है।

 

मध्य प्रदेश राज्य बैंडमिंटन अकादमी (MP State Badminton Academy) की दिव्यांग खिलाड़ी गौरांशी शर्मा ने ब्राजील में चल रहे डेफ ओलिम्पिक में टीम इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया है। गौरांशी की सफलता पर मप्र की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने बधाई देते हुए कहा कि गौरांशी ने ये साबित कर दिया है कि मध्य प्रदेश में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है।

उन्होंने कहा कि गौरांशी की प्रतिभा को निखारने का श्रेय हमारी अकादमी की बेहतर सुविधाओं और प्रशिक्षकों को जाता है। मैं उनके समर्पित माता-पिता को भी बधाई देती हूँ। गौरांशी के माता-पिता भी दिव्यांग हैं, लेकिन उन्होंने कभी इसे गौरांशी के सपनों के बीच बाधा नहीं बनने दिया।

प्रशिक्षण के लिये एक लाख रूपये स्वीकृत

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि जब गौरांशी टी.टी. नगर स्टेडियम में समर कैम्प में शामिल होने आई थी, तब वो मात्र सात वर्ष की थी। उनकी लगन और जुनून के चलते वे मध्यप्रदेश राज्य बैंडमिंटन अकादमी के प्रतिनिधित्व कर रही हैं। उनकी इस प्रतिभा को निरंतर जारी रखने और बेहतर प्रशिक्षण के लिए खेल विभाग द्वारा एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। जो उन्हें ब्राजील जाने से पहले ही प्रदान की गई है।

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि गौरांशी ने डेफ ओलिम्पिक में स्वर्ण पदक हासिल कर हमें गौरवान्वित किया है। मुझे उम्मीद है कि गौरांशी इंडिविजुअल इवेंट में भी स्वर्ण पदक हासिल कर प्रदेश और देश का नाम रोशन करेगी।

Related Articles

Back to top button