राजधानी में घाटों पर के्रन-जेसीबी से प्रतिमा होगा विसर्जन, तैयारी पूरी

भोपाल
राजधानी में मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन का दौर शुरू हो गया है, जो तीन दिन तक चलेगा। सभी 7 घाटों पर के्रन-जेसीबी से प्रतिमाएं विसर्जित की जाएंगी। किसी को भी पानी में उतरने नहीं दिया जाएगा। आसपास के 4 अन्य घाटों पर भी यही व्यवस्था रहेगी। तीन साल पहले खटलापुरा घाट में गणेश विसर्जन के दौरान हादसा हो चुका है। तभी से पुलिस और प्रशासन नई व्यवस्था के अनुसार प्रतिमा विसर्जन करा रहा है। बड़ी प्रतिमाओं को पहले जेसीबी पर बने प्लेटफॉर्म और फिर के्रन की मदद से पानी में विसर्जित किया जाएगा। वहीं, छोटी प्रतिमा कुंड में विसर्जित होगी।

यह रूट बदले रहेंगे: आज दुर्गा प्रतिमा एवं ज्वारे विर्सजन शहर के प्रेमपुरा घाट, कमलापति घाट, खटलापुरा, हताईखेड़ा डेम एवं बैरागढ़ पर प्रांरभ हो जाएगा। इन घाटों के आसपास सामान्य से अधिक यातायात दबाव रहेगा। साथ ही बैरागढ़ में दुर्गा प्रतिमाओं का चल समारोह एवं विर्सजन भी होगा। इसके चलते ट्रैफिक डायवर्ट रहेगा।

500 कर्मचारी तैनात: खटलापुरा, प्रेमपुरा, बैरागढ़, हथाईखेड़ा, शाहपुरा, आर्च ब्रिज और मालीखेड़ी में विसर्जन होगा। इनके अलावा सीहोर नाका, अनंतपुरा, ईंटखेड़ी और नरोन्हा सांकल में भी विसर्जन कर सकेंगे।

Related Articles

Back to top button