सीएम संवाद और परीक्षाओं में उलझ गये विद्यार्थी, पशोपेश में प्राचार्य

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के तहत प्रदेश भर के विश्वविद्यालय कालेजों में पढने वाले विद्यार्थियों की परीक्षाएं करा रहे हैं। परीक्षाएं चरम पर चल रही हैं। इसी दौरान उच्च शिक्षा विभाग ने छह अप्रैल को सीएम के संवाद कार्यक्रम में भागीदारी करने के लिये आदेश जारी कर दिये हैं। इसमें प्राचार्यों को विद्यार्थियों को आनलाइन कार्यक्रम में भागीदारी करना है। प्राचार्यों ने विद्यार्थियों का चयन करने में काफी परेशानी आ रही है। क्योंकि छह अप्रैल को विद्यार्थियों की परीक्षाएं अगल-अलग पालियों में आयोजित होंगी। जब विद्यार्थियों को संवाद में शामिल होने की तैयारी करने को कहा गया है, तो उन्होंने प्राचार्य से पूछा है कि वे परीक्षाओं की तैयारी करें या फिर संवाद की। इससे जहां विद्यार्थी परेशान हो रहे हैं। वहीं प्राचार्य भी पशोपेश में हैं कि विद्यार्थियों को कैसे संवाद से मुक्ति दिलाकर परीक्षाओं में शामिल किया जा सके।

कोरोना का असर
कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षाएं विलंब से ही आयोजित कराई जा रही हैं। एक अप्रैल से शुरू हुई परीक्षाओं को मार्च के प्रथम सप्ताह में शुरू होना थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यपाल मंगुभाई पटेल के निर्देश के बाद ही विभाग ने अप्रैल में परीक्षाएं कराने का निर्णय लिया है

Related Articles

Back to top button