सुमित्रा महाजन ने राजबाडा से मेट्रो के संचालन को लेकर आपत्ति जताई

इंदौर
सरकार के महत्वाकांक्षी मेट्रो प्रोजेक्ट का काम तेजी से चल रहा है। 2023 के विधानसभा चुनाव के पूर्व इसके एक हिस्से में मेट्रो चलाने की पूरी तैयारी है। इसी तरह शहरी क्षेत्र में गांधी प्रतिमा, कोठारी मार्केट, गांधी हॉल, राजबाडा के पास से भी मेट्रो को गुजारने का खाका तैयार हो रहा है। इस बीच पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने शहर के बीच राजबाडा के पास से मेट्रो के संचालन को लेकर गहरी चिंता जताई है। इस बाबद उन्होंने नगरीय विकास व आवास विभाग को अपने सुझावों के साथ विकल्पों को बताने के लिए पत्र लिखा है। इसे लेकर विभाग के कमिश्नर निकुंज श्रीवास्तव इसी सप्ताह इंदौर आएंगे। वे ताई के साथ इस मामले में डिटेल प्लान तैयार करेंगे।

दरअसल, शहर के पश्चिम क्षेत्र (राजबाडा व आसपास के क्षेत्र) अब काफी सघन क्षेत्र है। यह स्थिति तब है जब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सड़कें चौड़ी करने के लिए हजारों मकानों-दुकानों के आगे के अवैध हिस्सों को ढहाया गया जिसके चलते अब सड़कें चौड़ी दिखने लगी हैं साथ ही कुछ सडकों का निर्माण भी चल रहा है। इस बीच मेट्रो के गांधी प्रतिमा से लेकर राजबाडा व उसके आगे तक के हिस्से का जैसे ही खाका तैयार हुआ तो वहां के पूरे रहवासियों के साथ व्यापारी वर्ग भी अब चिंता में हैं। मेट्रो को अगर यहां से गुजारा जाता है तो 60 से ज्यादा बड़े रहवासी व कमर्शियल क्षेत्र प्रभावित होंगे क्योंकि मेट्रो के संचालन को लेकर काफी जगह लगती है जिसका खाका सुपर कॉरिडोर से लेकर रेडिसन चौराहे तक लोग देख चुके हैं। अगर मेट्रो शहर के बीच से गुजरी तो कई तरह की परेशानियां खड़ी होंगी।

खास बात यह कि यहां हेरिटेज के रूप में गांधी हॉल, गोपाल मंदिर, कृष्णपुरा छत्रियां, बोलियां छत्रियां, गांधी हॉल आदि हैं। चूंकि मेट्रो प्रोजेक्ट की नींव बड़ी जगह के साथ काफी गहरई में डाली जाती है तो ऐसे में न सिर्फ इन हेरिटेज की नींव को खतरा होगा बल्कि मेट्रो के वाइब्रेशन से लगातार कम्पन होता रहेगा। ऐसे में संभव है कि हेरिेटेज की नींव के साथ पुराने स्ट्रक्चर भी कमजोर होंगे।

Related Articles

Back to top button