जिले भर में झोलाछाप डॉक्टरो का आतंक, एक बार फिर ली युवक की जान

परिजनों ने किया हंगामा,क्याCMHO के सरंक्षण में गांव-गांव मकड़जाल की तरह फैले है झोलाछाप डॉक्टर ?

सतना
जिले भर में झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से युवक की मौत हो गयी। युवक कि मौत के बाद परिजनों ने झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया परिजनों ने पीएम के बाद शव लेने से इनकार कर दिया।

सतना।।मिली जानकारी अनुसार सिंहपुर थाना अंतर्गत आमा गांव के कछियांन टोला निवासी सोनेलाल कुशवाहा पिता स्व रामदास कुशवाहा 40 वर्ष की तबियत शुक्रवार की रात खराब हुई। परिवार के सदस्य उसे देर रात झोलाछाप डॉक्टर रामनयन निगम के पास ले गए, झोलाछाप डॉक्टर ने इंजेक्शन लगाया और सिरप दी ।पश्चात सोनेलाल को परिजन घर ले आये पर तबियत में सुधार होने की बजाय बिगड़ गयी परिजन उसे पुनः झोलाछाप डॉक्टर के पास ले गए तो उसने मृत बताकर भगा दिया।

सोनेलाल को लेकर परिजन नागौद अस्पताल ले गए जहाँ चिकित्सक ने परीक्षण के उपरांत मृत घोषित कर दिया। वही गलत उपचार से सोनेलाल की मौत होने का आरोप लगाने पर शव का पीएम नागौद अस्पताल में कराया गया। पीएम के उपरांत परिजनों ने शव लेने से इनकार कर दिया परिजनों का कहना था कि पहले झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी की जाए और मुवावजा दिया जाए मृतक का शव मरचुरी में रखकर परिजन ट्रक्टर टाली में बैठकर गांव आ गए और धरने पर बैठ गए सिंहपुर पुलिस ने बताया कि मृतक के परिजनों की शिकायत पर मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। परिजन आरोपी की गिरफ्तारी और मुवावजा की मांग कर रहे थे मरचुरी में शव छोड़कर धरना प्रदर्शन किए जाने की जानकारी लगने पर एसडीएम नागौद धीरेंद्र सिंह, एसडीओपी नागौद मोहित कुमार यादव, साथ ही जिला पंचायत सदस्य संध्या कुशवाहा आमा गांव पहुची। और मृतक के परिजनों को उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया गया । लेकिन आक्रोशित परिजन झोलाछाप डॉक्टर की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए थे।

Related Articles

Back to top button