राजधानी मे पकड़े गए आतंकी 14 दिन की रिमांड 

भोपाल
 राजधानी भोपाल में शनिवार और रविवार की दरमियानी रात को पकड़े गए संदिग्ध आरोपियों को सोमवार को एटीएस विशेष न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन के रिमांड पर भेज दिया गया है। एटीएस के हत्थे चढ़े आरोपियों में से तीन बांग्लादेशी हैं और एक बिहार का रहने वाला है। आतंकवादी गतिविधियों में पकड़े गए संदिग्ध चारों आरोपियों को जिला न्यायालय भोपाल में विशेष न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, एटीएस द्वारा पकड़े गए संदिग्ध आतंकी से शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गए सभी संदिग्ध आतंकी बांग्लादेश के रहने वाले हैं, इनकी पहचान 32 साल के फजहर अली उर्फ मेहमूद पिता अशरफ इस्लाम , 24 साल के मोहम्मद अकील उर्फ अहमद पिता नूर अहमद शेख , 28 साल के जहूरउद्दीन उर्फ इब्राहिम उर्फ मिलोन पठान उर्फ जौहर अली पिता शाहिद पठान और फजहर जैनुल आबदीन उर्फ अकरम अल हसन उर्फ हुसैन पिता अब्दुल रहमान के रूप में हुई है। पकड़े गए इन आरोपियों के पास से आपत्तिजनक साहित्य, लैपटॉप और फर्जी दस्तावेज मिले है।

पकड़े गए आरोपी प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश यानी जेएमबी के सदस्य है जो एक खतरनाक आतंकी संगठन है, यह संगठन बांग्लादेश में कई सीरियल ब्लास्ट का जिम्मेदार रहा है।  साल 2005 में इस संगठन ने बांग्लादेश के 50 शहरों और कस्बों के 300 स्थानों पर करीब 500 छोटे बम विस्फोट किए थे। संगठन द्वारा बांग्लादेश में बड़े स्तर पर नरसंहार किया गया।

फिलहाल एटीएस को पकड़े गए आरोपियों के पास से फर्जी दस्तावेज मिले है, जिनकी जांच के बाद यह सामने आया है कि इन्होंने सारंगपुर से अपने फर्जी दस्तावेज तैयार करवाएं, जिसमें आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, लाइसेंस बनवाया गया है, इस मामलें में अब एटीएस के निशाने पर फर्जी दस्तावेज बनाने वाले लोग भी आ गए है, एटीएस इनकी भी  तलाश करेगी, इसके अलावा और कौन-कौन लोग उनके संगठन में जुड़े हुए हैं इसकी भी जांच अभी एटीएस द्वारा की जानी है।जांच में यह भी सामने आया है कि भोपाल के कई इलाकों में इन लोगों ने पआपत्तिजनक साहित्य बांटा है। एटीएस इसकी भी जांच कर रही है। कि किन किन लोगों के पास यह साहित्य है।

वही सोमवार को प्रदेश की विधानसभा में भी बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात ए मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के चार आतंकियों को पकड़े जाने का मामला गूँजा, बताया जा रहा है कि पकड़े गए फजहर अली, मोहम्मद अकील, फजहर जैनुल आबदीन और जहुरुद्दीन की गिरफ्तारी के बाद अब इस मामले की जांंच के लिए एसआईटी बनाई जा रही है। एसआईटी का गठन भी जल्द होने की संभावना है।

Related Articles

Back to top button