मेघावी विद्यार्थी योजना में होगा बदलाव, दतिया में खुलेगा मोटर ड्राइविंग प्रशिक्षण और रिसर्च इंस्टीट्यूमट

भोपाल

एक बार मेधावी विद्यार्थी योजना का लाभ लेने के बाद आगे के वर्षो में परिवार की आय बढ़ने पर अब विद्यार्थी पूरी पढ़ाई तक इस योजना से वंचित नहीं होंगे। राज्य सरकार इसके लिए मेधावी विद्यार्थी योजना में बदलाव करने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आयोजित कैबिनेट बैठक में इस पर चर्चा की गई। इसके अलावा दतिया में मोटर ड्राइविंग प्रशिक्षण और रिसर्च इंस्टीट्यूट  खोले जाने के प्रस्ताव पर चर्चा की गई।
निवाड़ी में जिला पंजीयक कार्यालय शुरु करने के लिए पदों की मंजूरी पर भी चर्चा की गई। वाणिज्यिक कर विभाग के रिटायर्ड उपायुक्त एसडी रिछारिया की विभागीय जांच शुरु करने पर भी चर्चा की गई।  इसके अलावा महाधिवक्ता कार्यालय में सचिव के पद पर पंकज गौड़ की संविदा नियुक्ति अवधि में एक साल वृद्धि करने पर चर्चा हुई। आरडीसी द्वारा निर्मित तीन सड़को पर टोल की वसूली के प्रस्ताव पर भी चर्चा की गई।

अभी 6 लाख से ज्यादा इनकम होने पर योजना से बाहर हो जाते हैं छात्र
अभी तक मेधावी विद्यार्थी योजना में छात्र के माता-पिता की पारिवारिक आय छह लाख रुपए होने पर ही इस योजना का लाभ मिलता है। छह लाख रुपए से अधिक आय होने पर इस योजना का लाभ नहीं मिलता। इसके चलते कई बार पारिवारिक आय बढ़ जाने पर इंजीनियरिंग, मेडिकल कॉलेजों और अन्य स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को इस योजना से बाहर कर दिया जाता है। जो संशोधन किया जा रहा है उसमें एक बार योजना की पात्रता में आने वाले विद्यार्थियों को उस पाठ्यक्रम को नियमित रूप से पूरा करने पर पूरे पाठ्यक्रम अवधि तक इस योजना का लाभ मिलता रहेगा। इस प्रस्ताव पर आज कैबिनेट में चर्चा की गई।

दतिया में मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग
दतिया में मोटर नया मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट खोलने के प्रस्ताव पर भी चर्चा की गई। इस इंस्टीट्यूट में मोटर ड्राइविंग प्रशिक्षण के साथ-साथ ड्राइविंग पर रिसर्च भी किया जाएगा। इस इंस्टीट्यूट के शुरु होंने से दतिया और आसपास के जिलों के लोगों को सुविधा हो सकेगी। शासकीय सेवकों और पेंशनरों  के डीए मेें वृद्धि के प्रस्ताव का अनुसमर्थन भी कैबिनेट में किया गया। 

Related Articles

Back to top button