सेंटर फॉर एडवांस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के द्वारा किसानों को केंचुआ खाद बनाने की विधि बताई

जैविक कृषि विशेषज्ञ बिहारी लाल साहू द्वारा

डिंडोरी/शाहपुर
प्राकृतिक खेती के लिए राष्ट्रीय गठबंधन कार्यक्रम अंतर्गत कार्ड संस्था चयनित ग्रामों में किसानों को प्राकृतिक तरीके से खेती करने हेतु लगातार प्रेरित कर रही है,साथ ही समय समय पर कृषि विशेषज्ञ द्वारा बेहतर उत्पादन हेतु फील्ड निरीक्षण भी किया जा रहा है।

जैविक कृषि प्रशिक्षक बिहारी लाल साहू द्वारा बताया गया कि कार्ड संस्था द्वारा खरीफ सीजन के लिए चयनित किसानों को निःशुल्क धान,कोदो,कुटकी,रामतिल,बैगानी अरहर के साथ सब्जी के बीज भी वितरित किए गए,साथ ही बीज,सिंचाई एवं मृदा प्रबंधन के समय समय पर प्रशिक्षण भी आयोजित किए गए है।कुछ किसानों को वर्मी बैग भी दिए गए है।जिसमें शाहपुर सीएलएफ के 15 चयनित ग्रामों में से आज 6 ग्रामों में बालपुर रैयत,रकरिया,फड़की,बरछा,छिंदगांव माल एवं खाम्ही माल में केचुआ टांके (वर्मी वेड) पर केंचुआ छोड़ा गया।

   जिसमें कार्ड संस्था के जिला समन्वयक रमा शंकर गर्ग,प्रोग्राम समन्वयक दौलत सिंह चौहान,एमआईएस समन्वयक चंद्रमणी वास्पे तथा किसान चन्द्रसिंह, लल्लासिंह,साहबसिंह, छितरासिंह ,ज्ञानीसिंह,शिवनन्दन,कामिन,शांति बाई,सुनीता, इंद्रपाल,शशि,सुकवरिया,रुकमनी, धर्मवती,रामवती,हरिवती,मंगलिया,सरस्वती,बब्ली,रमेश अजय,नारायण,कामोद,विजय,चैन सिंह आदि किसान उपस्थित रहे।

जैविक खेती से किसानों के जागरूकता अभियान अंतर्गत चयनित ग्रामों में किसानों के साथ मिलकर कृषि विशेषज्ञ बिहारी लाल साहू के द्वारा लगातार संबंधित ग्रामों में केचुआ जैविक खाद,एवं मेढ़ पर फलदार पौधे के द्वारा किस प्रकार आय का साधन बढ़ाया जा सके,इस पर डेमो किए जा रहे है।कार्यक्रम में किसानों का बहुत ही सकारात्मक भागीदारी मिल रही है।

Related Articles

Back to top button