कल विराजेंगी मातारानी राजधानी में सजे पंडाल

भोपाल
दो दिन बाद मातारानी की आराधना का पर्व नवरात्र शुरू हो रहा है। राजधानी में नौदिवसीय नवरात्र पर्व को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। कोरोना काल के दो साल बाद नवरात्र पर्व को लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। मंदिरों में मेले लगाने की तैयारियां चल रही हैं। वहीं कुछ मंदिरों में सुबह-शाम सैकड़ों दीपों से मआरती की जाएगी। मंदिरों में साफ-सफाई से लेकर रंग-रोंगन व विद्युत साज-सज्जा की जा रही है। रायसेन रोड पर गुदावल गांव में स्थित कंकाली माता मंदिर में पंडित भुवनेश्वर शास्त्री के सानिध्य में पुजारियों द्वारा माता का नियमित रूप से विशेष श्रृंगार किया जाएगा। तरावली गांव में स्थित मां हरसिद्धि मंदिर में महंत गुलाबगिरी के सानिध्य में आरती होगी। नवरात्र में सुबह शाम नौ दिन खप्पर आरती की जाएगी। मंदिर में एक अक्टूबर शाम छह बजे 11 हजार दीपों से महाआरती होगी। इस तरह की आरती का आयोजन पहली बार होगा।

मां काली का रंगों के हिसाब से होगा श्रृंगार

कालिका मंदिर पुलपुख्ता तलैया के प्रबंधक ने बताया कि इस बार जैसा वार वैसा मां काली का नए स्वरूप में श्रृंगार किया जाएगा। जैसे सोमवार को नीला, मंगलवार को लाल, बुध को हरा और गुरूवार को पीले रंग का वस्त्रों से श्रृंगार किया जाएगा।

माता मंदिर में रोजाना महाप्रसादी का वितरण

टीटी नगर स्थित माता मंदिर में भी तैयारियां शुरू हो गई हैं। रंग-रोगन जारी है। आकर्षण विद्यतु साज-सज्जा की जा रही है। मंदिर के पुजारी ने बताया कि रोजाना मां अंबे की आरती के साथ महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button