मध्य प्रदेश में संविदाकर्मी नहीं मिलने पर सीधी भर्ती से भरे जाएंगे रिक्त पद

 भोपाल

मध्य प्रदेश में एक लाख रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रि या राज्य सरकार ने प्रारंभ कर दी है। बीस प्रतिशत पदों पर संविदाकर्मियों को नियमति किया जाना है। इसके लिए विभागों ने सामान्य प्रशासन विभाग से आरक्षण के संबंध में मार्गदर्शन मांगा था। विभाग ने स्पष्ट किया है कि आरिक्षत पदों में बीस प्रतिशत पद संविदाकर्मी को नियमित कर भरे जाएंगे। यदि आरिक्षत वर्ग के संविदाकर्मी उपलब्ध नहीं होते हैं तो उन्हें सीधी भर्ती के माध्यम से भरा जाएगा। प्रदेश के विभिन्न विभागों में 72 हजार संविदाकर्मी हैं। सरकार ने पांच जून, 2018 को निर्णय किया था कि सभी संवर्गों में बीस प्रतिशत पदों पर संविदाकर्मियों को नियमति किया जाएगा। अभी तक दो हजार कर्मचारी नियमति हो चुके हैं। अभी सरकार ने एक लाख रिक्त पदों पर भर्ती की जो प्रक्रि या प्रारंभ की है, उसमें भी बीस प्रतिशत संविदाकर्मियों को नियमति किया जाना हैं। इसमें आरक्षण की प्रक्रि या का पालन किया जाएगा।  आयुक्त सहकारिता सहित कुछ अन्य विभागाध्यक्ष कार्यालयों ने संविदाकर्मियों के नियमितीकरण के लिए पद आरिक्षत करके शेष रिक्त पदों पर भर्ती का प्रस्ताव भेज दिया है लेकिन अन्य विभागों ने अभी यह प्रक्रिया पूरी नहीं की है।

सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभागों को निर्देश दिए हैं कि कुल रिक्त पदों में से पांच प्रतिशत पदों की भर्ती के प्रस्ताव बनाकर राज्य लोक सेवा आयोग या कर्मचारी चयन मंडल को भेजे जाएं।

 

Related Articles

Back to top button