विष्णुदत्त शर्मा बोले – महाकाल लोक का लोकार्पण ऐतिहासिक कार्य, इसे सारी दुनिया ने सराहा

Bhopal News: महाकाल लोक का लोकार्पण कोई सामान्य घटना नहीं, बल्कि ऐसा ऐतिहासिक कार्य हुआ है, जिसे पूरी दुनिया ने सराहा है। देश और दुनिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में एक आध्यात्मिक और धार्मिक चेतना जाग्रत हुई है।

भोपाल
Bhopal News: महाकाल लोक का लोकार्पण कोई सामान्य घटना नहीं, बल्कि ऐसा ऐतिहासिक कार्य हुआ है, जिसे पूरी दुनिया ने सराहा है। देश और दुनिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में एक आध्यात्मिक और धार्मिक चेतना जाग्रत हुई है। 40 से अधिक देशों के लोग इस लोकार्पण समारोह के साक्षी बने और भारत आकर महाकाल के दर्शन कर आशीर्वाद लेने की बात कही।

इस अवसर पर प्रदेश के लगभग सभी शहरों एवं गावों में दीपोत्सव मनाया गया एवं सभी 1070 मंडलों में लोगों ने लाइव प्रसारण को देखा। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने लोकार्पण कार्यक्रम की सफलता के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं, देश-विदेश के नागरिकों और मीडिया का आभार जताया।

झूठ, कपट और नारों से राजनीति नहीं चलती

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक कार्यकर्ता आधारित पार्टी है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी के नेतृत्व में विचार और पद्धति के आधार पर आगे बढ़ी रही है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी किसी व्यक्ति या परिवार के आधार पर संगठन नहीं चलता, जैसे कांग्रेस एक परिवार तक सिमट कर रही गई है।

कांग्रेस ने प्रारंभ से ही लोकतंत्र को कमजोर करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि झूठ और कपट मात्र से राजनीति नहीं की जा सकती है। केवल नारे मात्र से काम नहीं चलता, बल्कि गरीबों का जीवन बदलने के लिए संकल्प लेकर आगे बढ़ना पड़ता है।

शर्मा ने कहा कि कमलनाथ कहते हैं कि महाकाल लोक की रचना उन्होंने की थी, तो इससे बड़ा झूठ कोई हो नहीं सकता। झूठ बोलो, फूट डालो और राज करो यही कांग्रेस का मूल चरित्र है। इसलिए दिग्विजय सिंह भारत के मान-सम्मान तथा हिंदुत्व पर प्रहार करते हैं और देश विरोधी ताकतों का समर्थन करते हैं। कांग्रेस हमेशा से लोकतंत्र की हत्या में सबसे आगे रही है, इसलिए पश्चाताप तो कांग्रेस के नेताओं को करना चाहिए।

देश को विश्व गुरु बनाएगी मातृभाषा में शिक्षा

शर्मा ने कहा कि हमें गर्व है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जो नई शिक्षा नीति बनी है वह भारत के मूल्यों पर आधारित है। मातृ भाषा में शिक्षा शुरू होने के बाद आगामी 25 सालों में स्वामी विवेकानंद जी का देश के विश्व गुरू बनने का सपना पूरा होगा।

उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बधाई देते हुए कहा कि उनके अथक प्रयासों और इच्छाशक्ति के कारण मध्यप्रदेश ऐसा पहला राज्य बन गया है, जिसमें मेडिकल की शिक्षा हिन्दी माध्यम में दी जायेगी। इसका पाठ्यक्रम तैयार है, जिसका लोकार्पण 16 तारीख को ग्वालियर में देश के गृह मंत्री अमित शाह जी करेंगे।

यह प्रदेश ही नहीं पूरे देश के लिए ऐतिहासिक क्षण होगा। शर्मा ने कहा कि इस ऐतिहासिक अवसर को लेकर पूरा मध्यप्रदेश गौरवान्वित है और पार्टी के कार्यकर्ता केंद्रीय गृहमंत्री जी के स्वागत की तैयारी में पूरे उत्साह के साथ जुटे हैं।

Related Articles

Back to top button