पंचायत निर्वाचन में मतदाताओं ने लोकतंत्र को मजबूत करने निभाई जिम्मेदारी

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी रत्नाकर झा ने मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया

डिंडौरी
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी  रत्नाकर झा के निर्देशन में त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022 के तहत डिंडौरी और अमरपुर के मतदान केन्द्रों में सुचारू रूप से मतदान सम्पन्न हुआ। पंचायत आम निर्वाचन के लिए जनपद पंचायत डिंडौरी में 185 एवं अमरपुर में 104 मतदान केन्द्र बनाये गए थे। सभी मतदान केन्द्रों में प्रातः 7ः00 बजे से दोपहर 3ः00 बजे तक मतदान का कार्य संपंन्न हुआ। कई मतदान केन्द्रों में दोपहर 3ः00 बजे के बाद भी मतदान की प्रक्रिया जारी रही।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी  झा ने त्रि-स्तरीय पंचायत के द्वितीय चरण में मतदान केन्द्र धनुवासागर, कमको मोहनिया, घेवरी, मोहारी, भानपुर, बोधघुण्डी, बटिया, अमरपुर, रामगढ़, नेवसा, भपसा, इमलई रैयत, सलैया, किसलपुरी, खैरदा, विक्रमपुर, पिपरिया खुर्द, सारंगपुर, पड़रिया, कुदवारी, अझवार, सारसताल और नेवसा का निरीक्षण किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक  संजय सिंह मौजूद रहे। त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन को लेकर मतदान केन्द्रों में युवक-युवतियां, वृद्धजन, दिव्यांग, पुरूष एवं महिला मतदाताओं में भारी उत्साह देखा गया। सभी मतदाताओं ने अपने-अपने मताधिकार का उपयोग किया। महिला मतदाता भी अपने मताधिकार का उपयोग करने में आगे रही। मतदान केन्द्रों में प्रातः 7ः00 बजे से ही मतदाताओं की लंबी कतारें लगी रही। त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन में सभी मतदाताओं ने लोकतंत्र को मजबूत करने में अपनी जिम्मेदारी निभाई।
    
पंचायत निर्वाचन के द्वितीय चरण में जिला पंचायत सदस्य सहित जनपद पंचायत डिंडौरी में 20 जनपद पंचायत सदस्य, 70 सरपंच एवं 1040 वार्ड पंच तथा जनपद पंचायत अमरपुर में 12 जनपद पंचायत सदस्य, 43 सरपंच एवं 593 वार्ड पंचों के भाग्य का फैसला होगा। पंचायत निर्वाचन के द्वितीय चरण में मतदान केन्द्रों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए थे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी  झा ने मतदान केन्द्रों मे मतदान की प्रक्रिया का निरीक्षण किया। मतदान प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मतदाताओं के द्वारा लाई जा रही पर्ची से मतदाता सूची का शीघ्रता से मिलान करें। जिससे मतदान का कार्य शीघ्रता से संपंन्न हो सके। उन्होंने मतदान केन्द्रों मंे मतदाताओं को कतार से आने के लिए निर्देश दें। मतदान दल सम्पूर्ण प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद मतदाताओं को मतपत्र दें। मतदाता मतदान पेटी में मतपत्र डालें, इस पर निगरानी रखें। उन्होंने मतदान केन्द्रों में मतदाताओं की भीड़ होने पर दोपहर 3ः00 बजे के बाद कतार में खड़े मतदाताओं को पर्ची क्रमांक देने के निर्देश दिए। जिससे सभी मतदाता मतदान कर सकें। मतदान केन्द्रों में मतदान के बाद शांतिपूर्वक मतगणना की गई। मतगणना के दौरान प्रकाश एवं सुरक्षा का प्रबंध किया गया था।

Related Articles

Back to top button