श्योपुर से ग्वालियर के लिए नए ट्रैक का काम चालू ,138 पुल का निर्माण

श्योपुर
 श्योपुर से ग्वालियर के लिए नई रेलवे लाइन डाली जा रही है। नैरोगेज रेल लाइन को ब्राडगेज में परिवर्तित करने की यह बहुप्रतीक्षित परियोजना दो साल में पूरी होने की संभावना है. अफसरों के मुताबिक 2024 तक रेलवे लाइन का कार्य पूरा हो जाएगा। ब्राडगेज में परिवर्तित होने के बाद ग्वालियर से सबलगढ़ के बीच पैसेंजर ट्रेन भी चल सकती है।

श्योपुर से ग्वालियर तक ब्राडगेज रेल लाइन पर 138 पुलों का हो रहा निर्माण- ब्राडगेज लाइन के काम को तीन हिस्सों में बांटा गया है। 200 किमी के ट्रैक पर 138 पुलों का निर्माण किया जा रहा है। इनमें 40 बड़े और 98 छोटे पुल हैं। पहले चरण में रायरू से लेकर सबलगढ़ के बीच एक दर्जन बड़े पुल बनाए जा रहे हैं. इनको बनाने का काम पुणे की एक कंपनी को दिया गया है। काम की तेजी देख संभावनाएं जताई जा रही है कि दो साल के भीतर यहां ट्रेन चल सकती है। अफसरों का दावा भी है कि सन 2024 तक यह कार्य पूरा हो जाएगा।

रेलवे के अधिकारियों के अनुसार बानमोर रेलवे स्टेशन से सबलगढ़ के बीच नौ स्टेशन और बनाए जाएंगे-पहले चरण में सुमावली से लेकर सबलगढ़ तक 50 छोटे पुलों का निर्माण प्रारंभ किया गया था। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार बिरला नगर से सबलगढ़ के बीच 184 करोड़ रुपये की लागत से 10 बड़े पुलों का निर्माण किया जाएगा। ब्राडगेज लाइन व पुलों के साथ ही रेलवे स्टेशन का निर्माण भी किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट में बानमोर रेलवे स्टेशन से सबलगढ़ के बीच नौ स्टेशन और बनाए जाएंगे। इनमें जौरा, कैलारस व सबलगढ़ के रेलवे स्टेशन बी श्रेणी के बनाए जाएंगे।

ब्राडगेज रेलवे लाइन बनने के बाद श्योपुर से ग्वालियर, मुरैना की दूरी चंद मिनटों की रह जाएगी। ग्वालियर से सबलगढ़ का सफर सिर्फ तीन घंटों का हो जाएगा। ब्राडगेज का यह प्रोजेक्ट 2912.96 करोड़ रुपये में पूरा किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button