चौथी लहर की आशंका देख तैनात हुए नोडल अधिकारी, रोजाना शाम को स्वास्थ्य विभाग को अपने जिले की बताएंगे स्थिति

 पटना
 

कोरोना संक्रमण की चौथी लहर की आशंका देखकर स्वास्थ्य विभाग व्यवस्था में जुट गया है। कोविड के पर्यवेक्षण, अनुश्रवण और नियत्रंण को लेकर नियत्रंण कक्ष की स्थापना की गई है। स्वास्थ्य सेवा स्तर के निदेशक प्रमुख से लेकर अपर निदेशक जिले के नोडल पदाधिकारी बनाये गए हैं। जो हर दिन शाम को स्वास्थ्य विभाग को अपने जिले में कोविड की स्थिति से अवगत कराएंगे। एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेई) प्रभावित 12 जिलों में कोविड की मॉनिटरिंग को प्रतिनियुक्त नोडल अफसर इन दोनों बीमारियों पर भी नजर रखेंगे।

12 जिलों में नोडल अफसर

विभाग ने पटना, वैशाली, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, दरभंगा, सारण, सीवान, गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी और शिवहर जिले में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम और जापानी इंसेफ्लाइटिस की मॉनिटरिंग की व्यवस्था की है।

Related Articles

Back to top button