उत्तर रेलवे के डिप्टी सीएमएम घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, सीबीआई के छापे में 32 लाख रुपये नकद बरामद

 लखनऊ
 
सीबीआई ने उत्तर रेलवे के लखनऊ डिवीजन में तैनात डिप्टी चीफ मैटेरियल मैनेजर (कैरेज एंड वैगेज) आलोक मिश्रा को 80 हजार रुपये घूस की रकम के साथ गिरफ्तार किया। सीबीआई ने आलोक मिश्रा के सहयोगी रहे दो निजी व्यक्तियों अविनाश मिश्रा और मंजीत सिंह को भी गिरफ्तार किया है। आलोक मिश्रा के ठिकानों पर मारे गए छापों में 32.10 लाख रुपये नकद, कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज व डिजिटल उपकरण भी बरामद हुए हैं।

सीबीआई को डिप्टी सीएमएम और उनके दोनों निजी सहयोगियों के विरुद्ध यह शिकायत मिली थी कि ठेके देने और उनके बिलों के भुगतान के लिए ठेकेदारों से लिए रिश्वत की मांग कर थे। यह जानकारी भी मिली कि डिप्टी सीएमएम ने अपने एक निजी सहयोगी को एक ठेकेदार के लगभग 70 लाख के बिलों के भुगतान के लिए नकद लाने का निर्देश दिया है। इस सूचना के आधार पर सीबीआई ने जाल बिछाकर आरोपी डिप्टी सीएमएम को रुपये की 80 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया। इसके बाद लखनऊ में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी का अभियान चलाया जा रहा है। छापों में डिप्टी सीएमएम के आवास से अब तक 32.10 लाख रुपये नकद के अलावा अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल उपकरण बरामद हुए हैं। गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों को सीबीआई द्वारा सक्षम न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button