संजय निषाद पार्टी की जीत पर- 1 से 11 हुए, रावणराज रोकने को मोदी ने हमें राम की तरह लगाया गले

लखनऊ
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन के साथ चुनाव लड़ी निषाद पार्टी के 11 प्रत्याशी इस बार चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचे हैं। निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद ने शनिवार को भाजपा नेतृत्व और पीएम मोदी, सीएम योगी को सहयोग और प्यार के लिए धन्यवाद दिया। लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए संजय निषाद ने रामराज्य और रावणराज का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह भगवान राम ने निषादराज को गले लगाया था ठीक उसी तरह पीएम मोदी, सीएम योगी और भाजपा नेताओं ने उन्हें प्यार और सम्मान दिया। उन्होंने कहा कि 5 साल में पार्टी 1 से 11 हो गई है। संजय निषाद ने कहा, ''राजनीति का जो संकल्प मैंने 12 जनवरी 2013 को निषाद राज के किले पर लिया था जहां भगवान राम ने वनवास में जाते समय कदम रखा था और बड़े भाई निषादराज के गले मिले थे तो दुनिया में शांति आई थी। बदले में निषादराज ने अपने सेना लंका भेजी थी। रावण का वध हुआ था। दो राज्य था एक रावणराज्य और दूसरा रामराज्य। रावणराज खत्म होकर रामराज्य की स्थापनी हुई थी।''

संजय निषाद ने बताया कि उनकी पार्टी के कुल 11 उम्मीदवार चुनाव जीते हैं। 6 उनकी पार्टी के 'भोजन भरी थाली' सिंबल पर और 5 भाजपा के निशान पर जीते हैं। उन्होंने कहा कि 5 प्रत्याशी बेहद कम अंतर से हारे हैं। उन्होंने कहा कि 2017 में भाजपा जिन 9 सीटों पर हार गई थी उनमें से 6 पर निषाद पार्टी ने जीत हासिल की है।'' संजय निषाद ने भाजपा से मिले प्यार और सम्मान का जिक्र करते हुए कहा, ''जिस तरह राम ने निषादराज को गले लगाया था ठीक उसी तरह पीएम मोदी और सीएम योगी ने हमें उसी रामराज्य की स्थापना के लिए और जो पिछली सरकारों ने रावणराज्य का इस्तेमाल करके जनता को दुख दे रही थी उसे रोकने के लिए जिस तरह हमें प्यार दिया उसके लिए धन्यवाद देता हूं।'' संजय निषाद ने यह भी कहा कि जिस तरह भाजपा नेताओं ने अपने प्रत्याशियों को जितवाने के लिए तन-मन-धन से काम किया ठीक उसी तरह निषाद पार्टी के प्रत्याशियों के लिए भी प्रचार और सहयोग किया गया।

 

Related Articles

Back to top button