SC-ST: देवकीनंदन का सरकार को अल्टिमेटम

आगरा
एससी-एसटी ऐक्ट में संशोधन के खिलाफ मंगलवार को आगरा के खंदौली में कथावाचक संत शिरोमणि देवकीनंदन ठाकुर की जनसभा को प्रशासन ने इजाजत नहीं दी। इसके बाद देवकीनंदन ने 2 बजे आगरा के कमलानगर स्थित एक होटेल में प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी। हालांकि, इस बीच प्रशासन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस रुकवाकर उन्हें हिरासत में ले लिया, कुछ देर बाद उन्हें रिहा भी कर दिया गया। पूरे घटनाक्रम को लेकर एनबीटी ऑनलाइन ने देवकीनंदन ठाकुर से बातचीत की। 

देवकीनंदन ठाकुर ने आगे की योजना के बारे में बताया कि वह 18 नवंबर को एससी-एसटी ऐक्ट के खिलाफ भोपाल में एक रैली करेंगे, जिसमें लाखों लोग मौजूद होंगे। यही नहीं, कथावाचक देवकीनंदन ने अल्टिमेटम के अंदाज में यह भी कहा कि सरकार के पास अभी दो महीने का वक्त है। 

'मेरा एक ही दोष कि मेरा कोई दोष नहीं'
हिरासत में लिए जाने के मामले पर कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने कहा, 'हम लोग शांतिपूर्ण तरीके से सबकुछ कर रहे हैं। प्रशासन के खिलाफ जाकर कुछ भी नहीं कर रहे हैं। खंदौली में हमारी जनसभा थी, प्रशासन ने इजाजत नहीं दी। उन्होंने अनुमति नहीं दी तो हम नहीं गए। हम किसी काम से आगरा गए। पत्रकार बातचीत करना चाहते थे, जिस पर मैंने कहा एक जगह इकट्ठा हो जाएं, हम आ जाते हैं। मैं एक-जगह पर गया, मेरे साथ पांच-दस लोग थे। प्रशासन के 200 लोग पहुंच गए और उन्होंने मुझे अरेस्ट कर लिया। मैंने तो ट्वीट भी किया है कि मेरा एक ही दोष है कि मेरा कोई दोष नहीं है।' 

'सर्वसमाज का होगा महाकुंभ'
देवकीनंदन ठाकुर ने अपने अगले कदम के बारे में बताया, 'अगला कदम 18 नवंबर को हम भोपाल में एक भव्य आयोजन कर रहे हैं। यह सर्वसमाज महाकुंभ होगा। यहां लाखों लोग होंगे। हमने इस बात की घोषणा कर दी है। सरकार के पास दो महीनों का समय है, मुझे उम्मीद है कि वह कुछ कर सकें।' 
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button