दुष्कर्म केस दर्ज करना शुरू कर दिया ,इसलिए आंकड़ों में बढ़ोतरी हुई -CM गहलोत

जयपुर

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुष्कर्म के मामलों पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि सरकार ने केस दर्ज करना शुरू कर दिया है। इसलिए दुष्कर्म के आंकड़ों में बढ़ोतरी हुई है। सीएम गहलोत ने महिला सुरक्षा सखी संवाद कार्यक्रम के दौरान कहा कि प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा दी जा रही है। हमारी सरकार बनने के साथ ही हमने प्रत्येक पीड़ित महिला की FIR दर्ज करने के निर्देश सभी थानों को दे दिए थे। जिसकी वजह से प्रदेश में महिला दुष्कर्म आंकड़े बढ़े हैं। वसुंधरा राज में थानों में एफआईआर ही दर्ज नहीं होती थी। सीएम ने कहा कि दुष्कर्म के मामलों को लेकर लगातार सियासी बयानबाजी होती रही है। गहलोत ने कहा कि विपक्ष का काम आलोचना करना ही नहीं। अच्छे काम की तारीफ करना भी होना चाहिए।  

सीएम बोले- दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर गंभीर

सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान में जिस तरह से अधिक महिला दुष्कर्म के मामले दर्ज हो रहे हैं। उसी तरह से जांच के आंकड़ों को देखेंगे उसमें भी राजस्थान पहले नंबर पर है। प्रदेश में शिकायत पर तत्काल जांच करके आरोपियों को सजा दिलाई है। प्रदेश में बच्चियों पर दुष्कर्म के मामले में दोषियों को फांसी की सजा भी हुई है तो आजीवन कारावास भी इसी राजस्थान में हुआ है। सीएम गहलोत ने कहा कि सरकार के निर्देश के बाद जिन थानों में पीड़ित महिलाओं की सुनवाई नहीं हुई और उनकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज नहीं की तो उन संबंधित थाना इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई भी हमारी सरकार ने की है। हम चाहते है कि प्रदेश में एक भी महिला या बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना नही हो।

सीएम ने की सखी प्रोग्राम और महिला सखी की प्रशंसा 

सीएम गहलोत ने कहा कि सखी प्रोग्राम में आज जिस तरह से महिलाओं ने आत्मविश्वास के साथ अपनी बात रखी है। यह अच्छा संकेत है। मुझे लग रहा है कि यह प्रोग्राम सफल हो रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस को यह भी कहा कि जरूरी है कि हम आम आवाम के अंदर अपना इकबाल कायम करें। ताकि आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय कायम हो सके। 

Related Articles

Back to top button