वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों के संवर्धन के लिए राज्य सरकार गंभीर, होम्योपैथी के प्रति जागरूकता लाने में चिकित्सक निभा सकते हैं महत्वपूर्ण भूमिका: आयुष मंत्री

जयपुर। आयुष मंत्री डॉ सुभाष गर्ग ने कहा कि राज्य सरकार आयुष चिकित्सा पद्धतियों के संवर्धन के प्रति बेहद गंभीर है। उन्होंने होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति के क्षेत्र में शोध करने और विश्वास के साथ इसे अपनाने व जागरूकता पर जोर दिया।

डॉ गर्ग शनिवार को इंदिरा गांधी पंचायतीराज संस्थान जयपुर में विश्व होम्योपैथिक दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर होम्योपैथिक चिकित्सकों से इस पद्धति के प्रति लोगों को जागरूक करने का आह्वान किया और इसके विकास के लिए कृत संकल्प होने के लिए प्रेरित किया।

आयुष मंत्री ने कहा कि होम्योपैथी पद्धति को जन मानस तक पहुँचाने के लिए होम्योपैथिक चिकित्सक एवं स्नातक , पंचायत स्तर तक इस पद्धति को पहुँचाने हेतु कार्य करें। उन्होंने होम्योपैथी के विकास के लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों के साथ रिसर्च योजना बनाकर कार्य किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं की जानकारियाँ आमजन तक पहुँचाने के लिए होम्योपैथिक चिकित्सक अपना योगदान दें।

श्री गर्ग ने होम्योपैथी चिकित्सा के साथ योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के तरीकों एवं पथ्य-अपथ्य के साथ सम्पूर्ण उपचार किये जाने पर जोर दिया ताकि रोग का जड़ से इलाज किया जा सके। उन्होंने कहा कि होम्योपैथी एव अन्य आयुष पद्धतियों को शिक्षा पाठ्यक्रम में जोड़ा जाए ताकि बच्चों को प्रारंभ से ही वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों का ज्ञान हो एवं निरोगी रहने की जीवन शैली को अपना सकें।

समारोह में पूर्व शासन सचिव श्री प्रदीप बोरड ने होम्योपैथी को अच्छी चिकित्सा पद्धति बताते हुए चिकित्सकों को पूर्ण मनोयोग से कार्य करने के आग्रह किया। डॉ टीपी यादव ने होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति के आधार पर चिकित्सा में प्राप्त उत्कर्ष परिणामों के बारे में सभी चिकित्सकों को जानकारी दी। डॉ रेनू बंसल ने कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापित किया एवं प्राप्त निर्देशों के अनुसार विभाग में कार्य किए जाने के निर्देश दिए।
समारोह में आयुष विभाग के विशेषधिकारी डॉ गिरधर गोपाल, अतिरिक्त निदेशक होम्योपैथी मनीषा सक्सेना व अन्य चिकित्सक व अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button