तेजप्रताप यादव का खुलासा! अपने ही एमएलसी सौरभ पर लगाए संगीन आरोप, मोदी-नीतीश से सीबीआई जांच की मांग

पटना
राजद अध्यक्ष लालू यादव के बड़े लाल तेज प्रताप यादव ने कुछ दिन पहले कहा था कि जल्द ही एक बड़ा खुलासा करुंगा। उन सभी चेहरों से नकाब उतारूंगा जिन्होंने मुझे नासमझ समझने की भूल की है। अपने दावे के अनुसार तेज प्रताप ने बुधवार को राजद एमएलसी सौरभ को लेकर कई खुलासे किये और दावा किया कि यह खुलासा नंबर वन है। जल्द ही खुलासा नंबर टू करूंगा तो पूरा बिहार दहल जाएगा।  एक टीवी चैनल से बात करते हुए तेज प्रताप ने पश्चिमी चंपारण से एमएलसी चुने गए सौरभ पर संगीन आरोप लगाए। तेज प्रताप ने कहा कि पैसे के बल पर सौरभ एमएलसी बने हैं। तेजप्रताप ने कहा कि गरीबों का पैसा लूटकर सौरभ अमीर बने हैं। वह इतना अमीर बन चुके हैं कि 50 लाख का बाथरूम बना रहे हैं।

तेजप्रताप ने कहा कि सौरभ आशा फर्नीचर के मालिक हैं। उनका मुंबई में बीयर बार है। झारखंड और गया में भी संपत्ति है। आरोप लगाया कि उन्होंने यह सारी संपत्ति गरीबों से हड़पी है।  तेजप्रताप ने कहा कि सौरभ को हम लोगों ने ही आगे बढ़ाया है। वह सबसे पहले मेरे पास ही आए थे। हम लोगों ने सोचा कि नवयुवक है, आगे बढ़े। हमने उन्हें हर तरह से सपोर्ट किया। अब मेरा ही फोन रिसीव नहीं कर रहे हैं।  तेज प्रताप ने कहा कि लोगों के पास खाने के लिए पैसे नहीं हैं और वह 50 लाख का बाथरूम बनवा रहे हैं। गरीब आदमी गरीब होता जा रहा है और अमीर आदमी अमीर हो रहा है। तेजप्रताप ने आरोप लगाया कि सौरभ एक नंबर के अय्याश हैं। उनकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। वह किस तरह से एमएलसी बने, इसकी जांच होनी चाहिए।

जब तेज प्रताप से पूछा गया कि सौरभ आरजेडी के ही एमएलसी हैं तो कहा कि अगर कोई गलत काम कर रहा है तो किसी भी पार्टी का हो हमारी ड्यूटी है कि उसके बारे में लोगों को बताया जाए। यह भी कहा कि वह आरएसएस के समर्थक हैं। कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि उनके पास पैसे कहां से आ रहे हैं और कहां जा रहे हैं।  तेज ने कहा कि हम पीएम नरेंद्र मोदी और बिहार सरकार से मांग करना चाहते हैं कि उसकी सीबीआई जांच हो। अगर उसे बनवाना ही था तो 50 लाख का अस्पताल बनाता, 50 लाख का बाथरूम बनाने का क्या काम है।

हाल ही में एमएलसी बने हैं सौरभ
विधान परिषद (एमएलसी) चुनाव में पश्चिम चंपारण से राजद के सौरभ कुमार हाल ही में जीते हैं। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वदी कांग्रेस के अफाक अहमद को 763 मतों से पराजित किया था। तीन बार विधान पार्षद रहे जदयू के राजेश राम यहां पर तीसरे स्थान पर रहे। कुल 4862 मतदाताओं में 4809 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। प्रथम वरीयता में सौरभ को 2132 मत, अफाक अहमद को 1621 मत मिले थे। राजेश राम को 632 मत प्राप्त हुए थे। द्वितीय वरीयता की गिनती के बाद 2278 मत प्राप्त हुए और सौरभ को विजयी घोषित किया गया।

Related Articles

Back to top button