दलित छात्र की मौत पर घिरी गहलोत सरकार को उनके ही विधायक ने घेरा

जालोर

राजस्थान के जालोर जिले में सुराणा के एक प्राइवेट स्कूल के दलित छात्र  से मारपीट और मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इसी बीच छात्र इंद्रकुमार की मौत के बाद सोमवार को उसके परिजनों को कई मंत्री ढाढ़स बंधाने सुराणा पहुंचे। इनमें राजस्थान अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष खिलाड़ी लाल बैरवा भी शामिल थे। बैरवा ने इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को ही कठघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि यह रेट तय करने वाले ये कौन होते हैं। उन्होंने स्पष्ट कहा कि उदयपुर में कन्हैयालाल प्रकरण में बिना मांगे 50 लाख रुपये और नौकरी दे दी तो यहां केवल पांच लाख रुपये क्यों? यह असमानता का भाव ही हमें समाप्त करना होगा। बैरवा ने तो मृतक छात्र के परिजनों को 50 लाख रुपये सहायता देने की मांग की। साथ ही विशेष सत्र बुलाने की मांग की है।

छात्र की मौत के बादनेताओं का दौरा शुरू
सुराणा में छात्र की मौत के बाद सियासत तेज हो गई है। छात्र के परिवार को ढाढ़स बंधाने नेताओं का दौरा जारी है। इसी कड़ी में एससी आयोग अध्यक्ष बैरवा के अलावा सामाजिक अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली, जन अभाव अभियोग निराकरण समिति अध्यक्ष पुखराज पाराशर, पंजाब कांग्रेस प्रभारी और बायतु विधायक हरीश चौधरी ने सोमवार को सुराणा पहुंचकर जानकारी ली।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और पायलट भी आएंगे
सुराणा में नेताओं का आने-जाने का सिलसिला मंगलवार को भी जारी रहने वाला है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा के आने का कार्यक्रम है। वे सोमवार को ही जयपुर से रवाना हो चुके हैं। वहीं राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा भी जयपुर से रवाना हो चुके है। इसी प्रकार पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के भी मंगलवार को सुराणा पहुंचने का कार्यक्रम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button