योगी सरकार के ताबड़तोड़ फैसलों ने बढ़ाई काम की रफ्तार, कहां क्या हो रहा

लखनऊ
 
प्रदेश की सत्ता दोबारा संभालने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सीएम बने सोमवार को एक महीना हो गया है। चार हफ्ते के कार्यकाल में उन्होंने अपने  ताबड़तोड़ फैसलों में भ्रष्ट अधिकारियों को निलंबित कर शासन-प्रशासन में शुचिता, पारदर्शिता और भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टालरेंस के स्पष्ट संदेश दिए हैं। युवाओं को सरकारी नौकरी में भर्ती की राह खोली तो गरीबों को राशन देने के फैसले के साथ ही यह भी बता दिया है कि सरकार गांवों और गरीबों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

सरकार बनते ही मुख्यमंत्री ने मुफ्त राशन योजना को 3 महीने बढ़ाने का फैसला किया। फ्री राशन योजना के तहत 35 किलो राशन और इसके साथ दाल, चीनी, खाद्य तेल, नमक जैसी खाद्य वस्तुओं को लाभार्थी परिवारों को दिया जा रहा है। पिछले 20 दिनों में 100 से ज्यादा अपराधियों और माफियाओं पर बुल्डोजर से कार्रवाई ने अपराधियों पर आगे भी कड़़ी कार्रवाई होने का संदेश दे दिया। पिछले 20 दिनों में 200 करोड़ से ज्यादा की अवैध संपत्ति ध्वस्त या जब्त की गई है। जिसमें 25 माफिया डीजीपी ऑफिस और 8 शासन की तरफ से चिन्हित किए गए थे।

कठिन परिश्रम करने वाले योगी ने सभी विभागों का प्रस्तुतिकरण देख उनके लिए रोडमैप तय किया। योगी सरकार ने सभी तहसीलों में फायर टेंडर की सुविधा देने, ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम 15 मिनट और शहरी क्षेत्र में अधिकतम 7 मिनट का रिस्पांस टाइम सुनिश्चित करने, दो वर्ष के अंदर 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश, ग्लोबल इन्वेस्टर समिट, ग्राउंड ब्रेंकिंग सेरेमनी का फैसला किया।

 

Related Articles

Back to top button