महिला ने चार साल में आईजीआरएस पर 4044 बार की एक ही शिकायत, नहीं मिला न्याय; अब तीन सदस्यीय टीम करेगी जांच

 बरेली
 
आईजीआरएस पोर्टल पर बहेड़ी की रजनी गंगवार 4044 बार गैस एजेंसी के एक कर्मचारी पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करा चुकी हैं। लेकिन शिकायत का गुणवत्तापरक निस्तारण नहीं हो सका है। अब शासन के सख्त रुख के बाद एडीएम फाइनेंस ने तीन सदस्यीय टीम को मामले की जांच कर शिकायत का निस्तारण कराने की जिम्मेदारी दी है। रजनी की शिकायत है कि 27 अक्तूबर 2018 को वह बहेड़ी गैस एजेंसी पर कनेक्शन लेने गई थीं। वहां कर्मचारियों ने उनसे 3,070 रुपये जमा कराए लेकिन स्लिप नहीं दी। बाद में 6 नवंबर 2018 को गैस एजेंसी से फोन आया कि उनका इनाम निकला है। आधार कार्ड लेकर आएं। रजनी अपनी 6 साल की बेटी के साथ एजेंसी पहुंची। वहां एजेंसी के कर्मचारी ने कनेक्शन के लिए 7 हजार रुपये और जमा कराने को कहा।

रजनी ने इसका विरोध किया और इनाम के नाम पर बुलाकर रुपये की डिमांड करने पर ऐतराज जताया। रजनी का आरोप है कि एजेंसी के कर्मचारी ने उनके साथ बदसलूकी की। रजनी ने कर्मचारी का वीडियो भी बनाया था। रजनी ने कर्मचारी के खिलाफ आईजीआरएस पर शिकायत शुरू कर दी। वह अब तक 4044 बार कर्मचारी की ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा चुकीं हैं।
 
रजनी के परिजनों का कहना है कि अधिकारी शिकायत का फर्जी निस्तारण करके सरकार को गुमराह कर रहे हैं। रजनी ने बहेड़ी के सप्लाई इंस्पेक्टर पर उनके पति के साथ अभद्रता करने के आरोप भी लगाए हैं। वहीं, शासन ने एक ही मामले की 4044 बार शिकायत दर्ज करने पर ऐतराज जताया है। साथ ही अधिकारियों को तुरंत निस्तारण कराने को कहा है। एडीएम फाइनेंस ने शुक्रवार को जांच के लिए कमेटी गठित कर दी।

सात दिन में जांच कर टीम देगी रिपोर्ट
एडीएम फाइनेंस ने रजनी गंगवार की शिकायत के निस्तारण के लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किया है। एसडीएम बहेड़ी, सीओ बहेड़ी और डीएसओ की संयुक्त टीम जांच कर सात दिन में रिपोर्ट देगी। एडीएम फाइनेंस संतोष बहादुर ने कहा, 'रजनी गंगवार ने एक गैस एजेंसी के कर्मचारी की 4044 बार आईजीआरएस पर शिकायत की है। उनकी शिकायत का निस्तारण किया गया है। उसके बाद भी वह शिकायत कर रहीं हैं। रजनी गंगवार से वार्ता करने के लिए टीम गठित की गई है। टीम बात करके समाधान कराएगी।'

 

Related Articles

Back to top button