स्‍मैक तस्‍करी में ग्राम प्रधान की दो पत्नियों ने किया सरेंडर, नारकोटिक्‍स टीम लेगी कस्‍टडी रिमांड

 बरेली
स्मैक तस्करी के आरोप में फरार चल रहीं बरेली के पढ़ेरा के तस्कर ग्राम प्रधान शाहिद खां उर्फ छोटे खां की दोनों पत्नियों ने आठ महीने बाद मंगलवार को एनडीपीएस एक्ट की विशेष कोर्ट में सरेंडर कर दिया। विशेष जज एनडीपीएस एक्ट प्रण विजय सिंह की विशेष कोर्ट ने दोनों को न्यायिक हिरासत में लेकर जिला जेल भेज दिया। अब नारकोटिक्स टीम तस्कर ग्राम प्रधान की दोनो बीबियों को कस्टडी रिमांड पर लेने की तैयारी करेगी। बीते वर्ष 16 अगस्त को फतेहगंज पूर्वी पुलिस ने पढ़ेरा गांव के प्रधान शाहिद खां उर्फ छोटे खां की कोठी पर दविश दी थी। दविश के दौरान पुलिस ने ग्राम प्रधान शाहिद खाँ और उसके भतीजे के कब्जे से बीस किलो स्मैक की बड़ी खेप बरामद की थी। पुलिस ने तस्कर शाहिद खां उ़र्फ छोटे और उसके भतीजे को एनडीपीएस एक्ट में जेल भेजा था। पुलिस कस्टडी रिमांड के दौरान शाहिद खाँ व उसके भतीजे ने तस्करी में शामिल अपने परिजनों समेत तस्कर साथियो के नाम बताये थे। तस्कर शाहिद खां के अपने परिवार वालों के अलावा अपनी दोनो पत्नी कामिनी एवं तरीकत के भी स्मैक तस्करी में शामिल होने की बात कबूली थी। फरार चल रही तस्कर की दोनो बीबियों के गिरफ्तारी वारंट विशेष कोर्ट ने जारी कर रखे थे। नारकोटिक्स टीम इन दोनो की गिरफ्तारी को दबिश दे रही थी। फरार चल रही तरीकत और कामिनी ने मंगलवार को विशेष कोर्ट में सरेंडर कर दिया। विशेष कोर्ट ने दोनों को जेल भेज दिया। पढेरा के तस्करी के इस चर्चित मामले की विवेचना नारकोटिक्स टीम कर रही है।

फतेहगंज पश्चिमी में पकड़ा गया स्मैक तस्कर
फतेहगंज पश्चिमी थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर मंगलवार को भिटौरा रेलवे फाटक के पास से एक तस्कर को गिरफ्तार किया गया है। वह उतराखंड आदि से आने वाले तस्करो को स्मैक की खेप सप्लाई करता है। पहले भी स्मैक तस्करी के मामले में जेल जा चुका है। बताया जा रहा है कि उसके पास से स्मैक की खेप बरामद की गई है।

तस्करी से बनी करोड़ों की कोठी में लगे ताले
पढ़ेरा के डर तस्कर ग्राम प्रधान तस्कर शाहिद खां उर्फ छोटे खां की पढ़ेरा गांव में करोड़ों की लागत की तीन मंजिला आलीशान कोठी है। कई महीने पहले सफेमा के तहत कोठी को सील करके ताले डाल दिये गये थे। जिसके बाद से प्रधान की कोठी बंद पड़ी है। कोठी में लगा करोड़ों की लागत के बेशकीमती सामान अब धूल फांक रहे हैं।

तस्कर हनीफ की संपत्ति की जांच शुरू
आरोपी स्मैक तस्कर हनीफ अंसारी के वार्ड आठ स्थित घर मंगलवार को पुलिस पहुंची। वहां केवल एक नाबालिग लड़की मिली। पता चला कि हनीफ की पत्नी और अन्य परिजन फरार हैं। क्षेत्रीय लेखपाल विशाल मोहन मिश्रा ने बताया कि हनीफ अंसारी उसके पूरे परिवार के द्वारा पिछले 25 वर्षों में अर्जित की गई संपत्ति की जांच की जा रही है। थाना प्रभारी निरीक्षक अखिलेश कुमार प्रधान ने बताया कि हनीफ अंसारी व उसके पूरे परिवार के लोगों के आय के स्रोतों और चल अचल संपत्ति का ब्यौरा जुटाया जा रहा है। इसके अलावा हनीफ के अन्य तस्कर साथियों के बारे में भी छानबीन की जा रही है।

Related Articles

Back to top button