सरकारी भवनों में आयोजित हो सकती है यूपी बोर्ड की परीक्षाएं, 58 लाख से ज्यादा छात्रों ने कराया है रजिस्ट्रेशन

 लखनऊ
 हाई स्कूल और इंटरमीडिएट के छात्रों के लिए अगले साल होने वाली यूपी बोर्ड की परीक्षा सरकारी भवनों में आयोजित की जा सकती है। जानकारी के मुताबिक अगर अधिकारियों को लगता है कि परीक्षा के लिए पर्याप्त परीक्षा केंद्र नहीं हैं तो ऐसे में सरकारी भवनों का इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसा इसलिए ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि परीक्षाओं में किसी भी तरह से नकल करने की गुंजाइश ना बचे।

इस मामले पर एक अधिकारी ने बताया कि उदाहरण के तौर पर  इसका मतलब यह हो सकता है कि, यदि जरूरी हो तो परीक्षाएं लखनऊ के अलीगंज में यूपीएससी भवन में आयोजित की जा सकती हैं। यूपी बोर्ड ने साल 2021 में 8373 केंद्रों पर 51.92 लाख छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित की थी। लेकिन अगले साल यानी 2023 में परीक्षा में शामिल होने वाले अनुमानित छात्रों की संख्या 58 लाख के आसपास हो सकती है। ऐसे में और ज्यादा परीक्षा केंद्रों की जरूरत होगी।

जानकारी के मुताबिक माध्यमिक शिक्षा विभाग ने सभी जिलाधिकारियों और स्कूलों के जिला निरीक्षकों (DIOS) को पत्र लिखकर जिले में स्थित ऐसे सरकारी भवनों / संस्थानों की सूची भेजने का आदेश दिया गया है जहां यूपी बोर्ड की परीक्षाएं सही तरीके से से आयोजित की जा सकती हैं।

 

Related Articles

Back to top button