UP के मंत्री राकेश सचान-संजय निषाद ने बढ़ाई योगी सरकार की मुसीबत

लखनऊ
उत्तर प्रदेश में एक तरफ जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने मंत्रियों पर नकेल कसने की कोशिश कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर मंत्रियों से जुड़े पुराने मामले अब सरकार के लिए किरकिरी का कारण बनते जा रहे हैं। यूपी के कैबिनेट मंत्री संजय निषाद के खिलाफ गोरखपुर की सीजेएम कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है वहीं दूसरी ओर 31 साल पुराने मामले में मंत्री राकेश सचान पर भी कोर्ट का डंडा चला है। अवैध असलहा रखने के मामले में अदालत में सचान शनिवार को पेश हुए थे लेकिन फैसला आने से पहले ही वह जेल से खिसक गए थे। इन राकेश सचान के मामले को लेकर समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार पर हमला बोल दिया है।

कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को गिरफ्तार कर 10 अगस्त तक कोर्ट में पेश करने के लिए दिए आदेश जारी किया गया है। उनके खिलाफ अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया है। अदालत ने उन्हें हर हाल में दस अगस्त तक कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया है। 2015 में निषादों के आरक्षण के देने की मांग के आंदोलन के दौरान उग्र होने पर मुकदमा दर्ज हुआ था। संजय निषाद के ऊपर भीड़ को भड़काने का आरोप है। इसको देखते हुए अब अदालत ने गोरखपुर की CJM कोर्ट ने NBW जारी किया है। संजय निषाद पर आंदोलनकारियों को भड़काने का आरोप दरअसल संजय निषाद के खिलाफ मामला 2015 का है जब सरकारी नौकरी में निषादों को आरक्षण देने की मांग को लेकर सहजनवां थानाक्षेत्र के कसरवाल में आंदोलन चल रहा था। इस आंदोलन में एक व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई थी। आरोप था कि पुलिस की गोली से उसकी मौत हुई है। इसके बाद आंदोलन और उग्र हो गया था और आंदोलनकारियों ने पुलिस की कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। इस दौरान वहां मौजूद संजय निषाद पर भीड़ को भड़काने का आरोप लगा था। इसके बाद उन्होंने 21 दिसम्बर 2015 को कोर्ट में सरेंडर किया था। जिसके बाद वो जेल भेज दिए गए थे। 2016 में वो जमानत पर बाहर आए थे।

सजा सुनाए जाने से पहले ही कोर्ट से निकले राकेश सचान योगी के मंत्री राकेश सचान की मुश्किलें बढ़ने वाली है। 31 साल पुराने मामले में उन्हें सजा सुनाई गई थी। आरोप है कि कुछ लोग वकील की पोशाक में कोर्ट में घुसे और हंगामा करने लगे। इसी दौरान राकेश सचान अदालत के आदेश की प्रति भी अपने साथ ले गए। अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट आलोक यादव के निर्देश पर पेशकार ने सचान के खिलाफ तहरीर दी है। यह मामला जैसे ही सामने आया समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार पर हल्ला बोल दिया। सपा ने कहा है कि अब सीएम योगी क्या अपने मंत्री के घर पर बुलडोजर चलवाने का काम करेंगे।

Related Articles

Back to top button