गांवों में भी हो शहरों की भांति साफ-सुथरी सड़के: ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री

जयपुर । ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री रमेश चन्द मीना ने कहा कि गांवों में भी शहरों की तर्ज पर साफ-सुथरी सड़के हो इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों एवं नालियों की सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, जिससे ग्रामीण परिवेश में स्वच्छता का वातावरण तैयार हो सके। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में कचरा संग्रहण डंपिंग यार्ड, लिक्विड एवं सॉलिड वेस्ट मैनजमेंट जैसे कार्य करवाने के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये हैं।

ग्रामीण विकास मंत्री ने गुरुवार को यहां इंदिरा गांधी पंचायती राज एवं ग्रामीण संस्थान में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन का मुख्य उद्देश्य स्वच्छता का वातावरण तैयार करना है और इसे हर हालत में साकार करना है।

श्री मीना ने स्वच्छ भारत मिशन योजना की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की विगत 3 वर्षों की रिपोर्ट नहीं लाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए साफ शब्दों में कहा कि योजना की राज्य स्तर से सही ढंग से मॉनिटरिंग नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा कि ओडीएफ प्लस के तहत  गांवों में पूरी साफ सफाई होनी चाहिए इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उन्होंने योजना के तहत प्रदेश में घोषित 1765 ओडीएफ प्लस गांवों की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने सामुदायिक सुलभ शौचालयों की नियमित रूप से साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा की प्रशासन गांवों के संग अभियान के दौरान स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत प्रार्थना पत्रों पर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाऎ, जिससे पात्र लाभार्थियों को योजना का लाभ शीघ्र मिल सके।
 
बैठक में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती अपर्णा अरोरा, स्वच्छ भारत निदेशक श्री विश्व मोहन शर्मा सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button