फ्री राशन व्यवस्था क्यों हो गई बेपटरी, जून में मिला मई का राशन

 लखनऊ
राशन वितरण व्यवस्था बेपटरी हो गई है। आलम यह है कि माह में दो बार मिलने वाले मुफ्त राशन का वितरण एक महीने पीछे हो गया है। इधर दो से बंट रहा राशन, एक माह पुराना, मई माह का है। इसके बाद मई का दूसरा फ्री राशन व तेल, चना, नमक बटेगा। देखा जाए तो सरकार पर अब करोड़ो कार्डधारकों का दो बार का राशन उधार चढ़ चुका है। वजह नेफेड द्वारा समय से तेल, चना व नमक की आपूर्ति न कर पाना बनी है। वहीं कार्डधारक वितरण में कोटेदारों पर धांधली का आरोप लगा रहे हैं।  

मार्च से बेपटरी हुई वितरण व्यवस्था
मार्च से राशन वितरण बेपटरी हुई है। अधिकारी बताते हैं कि राशन के उठान व वितरण में पहले दो चार दिनों की देरी हो जाती थी। लेकिन राशन के साथ नि:शुल्क तेल, चना, नमक का वितरण शुरू होने के बाद ही लेट लतीफी शुरू हो गई। चुनावी बेला में दिसम्बर, जनवरी व फरवरी में महीने में दो बार राशन व तेल, चना, नमक लोगों को महीने के भीतर मिल गया। मार्च से वितरण लड़खड़ाने लगा। मार्च में चना, तेल, नमक के चक्कर में वितरण 28 मार्च तक चला। दूसरी बार राशन नहीं बंट सका।    

माह में तीन बार वितरण के प्रयास हुए विफल
अधिकारियों ने प्रयास किया किया कि अप्रैल में तीन बार राशन बांट कर यह गैप भर लेंगे। लेकिन मार्च का प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई ) का वितरण अप्रैल दो से 10 तक हुआ। अप्रैल का नियमित वितरण 12 से 28 तक चला। मई में फिर प्रयास हुआ कि तीन बार बांट कर हिसाब बराबर कर लिया जाएगा। लेकिन मई का पूरा माह ही अप्रैल के पीएमजीकेएवाई राशन और चना, तेल, नमक बांटने में ही बीत गया। तेल, चना, नमक की आपूर्ति न मिलने से तीन बार वितरण की तरीख बढ़ी।

जून में बंट रहा मई का राशन
मई का नियमित राशन बांटने के लिए दो से 10 जून तक तरीख रखी गई है। इसके बाद मई के पीएमजीकेएवाई का राशन बंटना होगा। जिसके साथ चना, नमक व तेल भी नि:शुल्क वितरित होगा। अधिकारी चिंतित हैं कि इस बार भी देरी हुई तो तीन विरतण पीछे हो जाएंगे।  

 

Related Articles

Back to top button