योगी सरकार का माफियाओं पर कसता शिकंजा, 100 दिनों में 9 अरब की संपत्तियां जब्त

 लखनऊ
 
यूपी पुलिस ने 100 दिनों में 690 मुकदमों में गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए 9.52 अरब रुपये की सम्पत्तियों को जब्त किया है। सबसे ज्यादा कार्रवाई मेरठ जोन में हुई है। वहां 2.56 अरब की सम्पत्ति कुर्क की गई है। अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि मार्च से जून के बीच 62 माफियाओं को चिह्नित करते हुए कार्रवाई की गई और 896 माफिया अपराधियों के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए जाए। 178 के खिलाफ गुण्डा एक्ट, 364 के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट और 13 के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की गई। ऐसे दो गैंगस्टर मुठभेड़ में मारे गए जबकि 20 गैंगस्टर अपराधियों को फांसी की सजा सुनाई गई। इन चिह्नित माफियों से 8.51 अरब की सम्पत्ति का जब्तीकरण, ध्वस्तीकरण और अवैध कब्जे से मुक्त कराया गया। माफियाओं का वर्गीकरण करते हुए 2656 माफिया चिह्नित किए गए। इन माफियाओं की 702 करोड़ रुपये की सम्पत्ति जब्त की गई।

विभिन्न जिलों में थाना स्तर पर 16288 टॉप 10 अपराधियों के खिलाफ 84394 मुकदमें पंजीकृत हुए और अपराधियों पर प्रभावी कार्रवाई करते हुए 702 करोड़ रुपये की सम्पत्ति जब्त की गई। इस दौरान 68784 अतिक्रमण स्थलों व 76190 अवैध पार्किंग स्थलों से मुक्ति दिलाई गई।  श्रावस्ती व बहराइच में यूपी एटीएस की नई फील्ड यूनिट स्थापित होनी है और यूपी एसटीएफ की आगरा, गोरखपुर, प्रयागराज, बरेली में फील्ड इकाई स्थापित करने के लिए भूमि के आवंटन के लिए अनुमोदन मिल गया है।  वधि में शासन की नीतियों तथा पुलिस द्वारा किए गए सराहनीय कार्यों के संबंध में पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 एवं अपर पुलिस महानिदेशक, कानून एवं व्यवस्था महोदय द्वारा दी गयी 14 वीडियो बाइट को @UPPolice ट्विटर हैंडल से अपलोड किया गया।

सोशल मीडिया से भी ली मदद
पुलिस ने सोशल मीडिया पर घटनाओं की तथ्यात्मक जानकारी, पुलिस के सराहनीय कामों व शासन की नीतियों के संदर्भ में 3,322 वीडियो बाइट अपलोड की। अपराध से संबंधित 218 भ्रामक खबरों का खण्डन, सोशल मीडिया पर अफवाह/भ्रामक सूचना फैलाने से संबंधित पोस्ट किए जाने पर 45 प्रकरणों में एफआईआर  दर्ज कराई।

 

Related Articles

Back to top button